" /> शिवभोजन थाली साबित हुई गरीबों के लिए वरदान -मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

शिवभोजन थाली साबित हुई गरीबों के लिए वरदान -मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

एक करोड़ से अधिक लोगों ने मिटाई अपनी भूख

गरीबों और जरूरतमंदों को रियायती दर पर भोजन उपलब्ध कराने के लिए गणतंत्र दिवस के अवसर पर राज्य में ‘शिवभोजन’ थाली योजना शुरू की गई थी। २६ जनवरी, २०२० से अब तक १ करोड़ ८७० थाली वितरित की गई है। इस योजना से राज्य के गरीब लोगों को बड़ी राहत मिली है। गरीबों के लिए यह योजना वरदान साबित हो रही है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कल यह बात कही। उन्होंने कहा कि शिवभोजन योजना के तहत राज्य में ८४८ केंद्र कार्यरत हैं और इस योजना का विस्तार करके तालुका स्तर तक लागू किया जा रहा है।
महीने के हिसाब से थाली का वितरण
जनवरी महीने में ७९ हजार ९१८, फरवरी में ४ लाख ६७ हजार ८६९, मार्च में ५ लाख ७८ हजार ३१, अप्रैल में २४ लाख ९९ हजार २५७, मई में ३३ लाख ८४ हजार ४० और जून महीने में २९ जून तक २९ लाख ९१ हजार ७५५ शिवभोजन थाली का राज्य में वितरण किया गया है। कोरोना वायरस के प्रकोप के बाद लॉकडाउन के दौरान शिवभोजन थाली योजना के तहत ५ रुपए के भोजन की थाली ने मजदूर, स्थलांतरित लोग, बेघर लोग, बाहरगांव में फंसे विद्यार्थी और अन्य नागरिकों की भूख मिटाई।
मशीनरी की प्रशंसा
इस कठिन समय में बहुत ही कुशल तरीके से इस योजना का नियंत्रण व व्यवस्थापन खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग ने किया है। इसके लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने विभाग के सभी कर्मचारियों-अधिकारियों और शिवभोजन केंद्र के चालकों की प्रशंसा की है।
केंद्र की स्वछता
शिवभोजन केंद्र संचालकों को भी कोरोना की पार्श्वभूमि को लेकर साफ-सफाई करने, भोजन केंद्र परिसर को कीटाणुरहित करने, अपने हाथों को साबुन से धोने और मास्क का उपयोग करना अनिर्वाय किया गया है।