" /> ‘आज हाथरस में पीड़िता के परिवार से मिलेंगे शिवसैनिक’

‘आज हाथरस में पीड़िता के परिवार से मिलेंगे शिवसैनिक’

शिवसेना उत्तर प्रदेश इकाई की आपातकालीन बैठक गुरुवार को सरोजनीनगर स्थित पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित की गई। इस बैठक में हाथरस जिले में दलित बालिका के साथ हुए दुराचार और अमानवीय कृत्य की घोर निंदा की गई। बैठक में शिवसेना के राज्यप्रमुख ठा. अनिल सिंह ने कहा कि यूपी सरकार कानून व्यवस्था के मामले में पूरी तरह फेल हो चुकी है। उन्होंने कहा कि हाथरस की बेटी की मौत से पूरे प्रदेश ही नहीं, बल्कि देश में आक्रोश है। ठा. अनिल सिंह ने कहा कि जिस तरह से दलित बालिका की मौत के बाद प्रशासन ने हिंदू रीति-रिवाज से हटकर जबरन उसका रात के अंधेरे में अंतिम संस्कार कराया, वह घोर निंदनीय है। उन्होंने कहा कि इस घटना में जरूर कोई गहरा राज है, जिसे छुपाने के लिए सरकार ने रात के अंधेरे में ही उसका अंतिम संस्कार करा दिया। उन्होंने कहा कि अंतिम संस्कार के दौरान पुलिस और प्रशासन के लोगों ने मृतका के परिजनों तक को उसका चेहरा तक नहीं देखने दिया। ठा. अनिल सिंह ने आरोप लगाया कि यह सब पुलिस और प्रशासन ने सरकार के इशारे पर ही किया है। जिसको लेकर पूरे प्रदेश में भारी आक्रोश है। उन्होंने बताया कि दलित बेटी के न्याय के लिए वे खुद शुक्रवार सुबह करीब ७ बजे हाथरस के लिए रवाना होंगे। वहां पहुंचने के लिए प्रत्येक जिले के शिवसैनिकों को आवाहन कर निर्देश भी दे दिया गया है। इस बैठक में शिवसेना के विश्वजीत सिंह, आनंद विक्रम सिंह, फुरकान खान, रघुवीर यादव, घनश्याम गुप्ता, डॉ. दुर्गेश विश्वकर्मा और ध्रुव यादव सहित कई अन्य पदाधिकारी भी मौजूद रहे।