" /> गरीबों को मिला जबरदस्त आधार, ₹५ में ‘शिव भोजन’ आहार!, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की योजना का हुआ विशेष विस्तार

गरीबों को मिला जबरदस्त आधार, ₹५ में ‘शिव भोजन’ आहार!, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की योजना का हुआ विशेष विस्तार

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की महत्वाकांक्षी शिवभोजन थाली योजना गत २६ जनवरी को शुरू की गई थी। यह योजना राज्य के किसान, मेहनतकश, मजदूर, गरीब व विद्यार्थियों के लिए है ताकि वे भूखे न रहें। लॉकडाउन में इसकी कीमत १० रुपए से घटाकर ५ रुपए कर दी गई ताकि संकट के इस समय में सभी को भोजन मिल सके और राज्य में कोई भूखा न रहे। इस योजना को इतना अधिक प्रतिसाद मिला कि लॉकडाउन के दौरान गरीबों के लिए यह योजना वरदान साबित हुई। इसलिए लॉकडाउन रहने व सामान्य परिस्थिति होने तक राज्य सरकार ने पांच रुपए की शिवभोजन थाली योजना को जारी रखने का निर्णय लिया है। इस योजना को आगामी तीन महीने तक विस्तार देने का फैसला लिया गया है ताकि लॉकडाउन के दौरान किसान, मजदूर, मेहनतकश, विद्यार्थी कोई भूखा न रह सके। यह जानकारी अन्न आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल ने दी। इस निर्णय से कोरोना के कारण बनी परिस्थिति से भूखे व मजबूर नागरिकों को बड़ी राहत मिलेगी। कोरोना वायरस के कारण राज्य में गरीबों, किसानों, मजदूरों और छात्रों के बीच भुखमरी को रोकने के लिए उपभोक्ताओं को मात्र ५ रुपये में भोजन प्रदान करने का उक्त महत्वाकांक्षी निर्णय राज्य सरकार ने गत मार्च महीने में लिया था। अब पांच रुपये की इस शिवभोजन थाली योजना को आगामी सितंबर महीने तक जारी रखने की घोषणा भुजबल ने की। शिवभोजन थाली योजना का समय भी बढ़ाया गया है। सुबह ११ बजे से ३ बजे तक भोजन दिया जा रहा है। पांच रुपये में दी जा रही शिवभोजन थाली की मूल कीमत शहरी क्षेत्रों में ४५ रुपये प्रति थाली और ग्रामीण क्षेत्रों में ३५ रुपये प्रति थाली है। मगर सरकार इसे ग़रीबों को सिर्फ ५ रुपये में उपलब्ध करा रही है। सरकार ने इस योजना के लिए १६० करोड़ रुपये आवंटित किए हैं।