" /> कोरोना से ही नहीं, भूख से भी जरूरतमंदों को बचाना जरूरी -सरनाईक

कोरोना से ही नहीं, भूख से भी जरूरतमंदों को बचाना जरूरी -सरनाईक

आपदा की इस घड़ी में मदद के लिए शिवसेना हमेशा आगे
कोरोना नामक महामारी से इस समय पूरा विश्व जूझ रहा है। इससे लड़ने और उबरने के लिए एहतियातन पूरे देश मे ‘लॉकडाउन-३’ लागू किया गया है। इस लॉकडाउन की घड़ी में भी पुलिस प्रशासन, मेडिकल विभाग, सफाई कर्मचारी आदि दिन-रात लोगों को अपनी सेवा देने में जुटे हैं।
इन सबकी सुविधा के लिए शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक ने ठाणे और मीरा-भाइंदर शहर में प्रतिदिन ५-५ हजार खाने के पैकेट वितरित करने का संकल्प लिया और लॉकडाउन-१ से ही दोनों ही शहरों में जरूरतमंदों तक भोजन के पैकेट पहुंचाए जा रहे हैं। सरनाईक का कहना है कि कोरोना से लड़ते हुए भूख से भी लोगों को बचाना जरूरी है।

कोई भूखा न सोए -विक्रम प्रताप सिंह
मीरा-भाइंदर शहर में प्रताप फाउंडेशन के अध्यक्ष व नगरसेवक विक्रम प्रताप सिंह व उनके सहयोगी पूरा कर रहे हैं। मीरा रोड के शिवार गार्डन में प्रतिदिन ५ हजार से अधिक भोजन के पैकेट तैयार किए जाते हैं, जिसे जरूरतमंदों तक पहुंचाया जाता है। विक्रम प्रताप सिंह ने ‘दोकासा’ के संवाददाता को बताया कि पहले तो पुलिस प्रशासन, मेडिकल सेवा में जुड़े लोग, मनपा के सफाई कर्मचारी, ट्रैफिक पुलिस, ट्रैफिक वार्डन, सिक्युरिटी वॉचमैन आदि के लिए यह सेवा शुरू की गई थी, लेकिन बड़ी संख्या में गरीब तबके के लोगों तक भोजन के पैकेट पहुंचाए जा रहे हैं। हमारे शहर में कोई भूखा न सोए यही हमारा संकल्प है। उनके इस कार्य में शिवा सिंह, विद्याशंकर चतुर्वेदी, सुरेश दुबे, जिला प्रमुख प्रभाकर म्हात्रे, नगरसेवक राजू भोईर तथा तमाम शिवसैनिक सहयोग कर रहे हैं।