" /> झुग्गी-झोपड़ियों में हारा कोरोना, ७०% कोविड सेंटर होंगे बंद

झुग्गी-झोपड़ियों में हारा कोरोना, ७०% कोविड सेंटर होंगे बंद

मुंबई में कोरोना वायरस महामारी के प्रसार के चलते मनपा द्वारा अप्रैल माह से स्वास्थ्य संबंधित सुविधाओं का विस्तार किया गया था। मुंबई के विभिन्न क्षेत्रों और झोपड़पट्टियों में नए-नए कोविड सेंटर बनाए गए। ऐसे में वर्तमान समय में मुंबई में हालात काबू में आ गए हैं और झुग्गी-झोपड़पट्टियों में कोरोना वायरस लगभग हार चुका है। जिस पर मनपा द्वारा मुंबई के ७० प्रतिशत कोविड सेंटर्स को बंद करने का पैâसला लिया गया है।
बता दें कि मुंबई में ऐसे अनेक इलाके हैं, जहां पर लोग छोटे-छोटे कमरों में रहते हैं और सार्वजनिक शौचालयों का इस्तेमाल करते हैं। ऐसे में इन इलाकों में पाए जानेवाले कोरोना मरीजों के इलाज के लिए मनपा ने अप्रैल माह में स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, मैरिज हॉल, होस्टल्स और विभिन्न स्थानों पर कोविड केअर सेंटर बनाए थे। मनपा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जब मुंबई में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे थे, उस समय झुग्गी-झोपड़पट्टियों के लोगों को उनके घरों में क्वारंटीन करना संभव नहीं था इसलिए मनपा द्वारा कोविड केअर सेंटर बनाए गए, ताकि अधिक-से-अधिक संख्या में लोगों को आइसोलेट किया जा सके। वर्तमान में हालात काबू में हो चुके हैं और रोजाना पॉजिटिव आनेवाले मामलों में से भी मात्र २०० से ३०० मामले ही सिम्पटमेटिक हैं, जिसके चलते अब कोविड केअर सेंटर्स की आवश्यकता नहीं दिखाई दे रही है। इसलिए मनपा द्वारा ७० प्रतिशत सेंटर्स को बंद करने का निणर्‍य लिया गया है।
कोरोनामुक्त की राह पर धारावी- मालाड
एशिया की सबसे बड़ी झोपड़पट्टी धारावी अब धीरे-धीरे कोरोनामुक्त हो रही है। पिछले १० दिनों से यहां बहुत कम संक्रमित सामने आ रहे हैं। इनकी संख्या १० के भीतर है। फिलहाल धारावी में ७२ मरीजों का उपचार किया जा रहा है। इसी तरह पी/ उत्तर वार्ड के मालाड भी कोरोनामुक्त की राह पर है। यहां सील इमारतों की संख्या पंद्रह सौ से कम हुई है और ७ कंटेनमेंट जोन भी प्रतिबंधमुक्त हुए है।
एक्टिव मामले कम हुए
जुलाई महीने में कोरोना को लेकर मुंबई में काफी सकारात्मक परिणाम आए हैं। रिकवरी रेट जहां बेहतर हुआ है, वहीं ऐक्टिव केस की संख्या भी कम हुई है। मनपा द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार १ जुलाई को मुंबई में २९,२८८ एक्टिव केस थे। जो ३१ जुलाई को ८,७१९ कम होकर २०,५६९ रह गए।