" /> राज्य के प्रमुख बड़े शहरों में लागू होगी झोपड़पट्टी पुनर्वसन योजना! -मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

राज्य के प्रमुख बड़े शहरों में लागू होगी झोपड़पट्टी पुनर्वसन योजना! -मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

गरीबों के घरों का सपना होगा साकार

सभी गरीबों के घरों का सपना साकार करने के लिए राज्य के प्रमुख शहरों में झोपड़पट्टी पुनर्वसन योजना लागू करने का निर्णय लिया गया है। कल मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में मुंबई स्थित सह्याद्रि अतिथीगृह में हुई झोपड़पट्टी पुनर्वसन प्राधिकरण की बैठक में यह निर्णय लिया गया।
मुंबई महानगर छोड़कर मुंबई महानगर क्षेत्र, मनपा, नपा के लिए स्वतंत्र झोपड़पट्टी पुनर्वसन प्राधिकरण स्थापना करने का निर्णय इस बैठक में लिया गया। अधर में लटकी झोपड़पट्टी पुनर्वसन योजनाओं को गति देने के लिए व उसके लिए लगनेवाली निधि के लिए स्ट्रेस फंड बनाने का निर्णय भी इस बैठक में लिया गया। इस स्ट्रेस फंड के माध्यम से झोपड़पट्टी पुनर्वसन योजना के घरों के निर्माण करने के लिए बैक की ओर विकास के लिए कर्ज उपलब्ध कराया जाएगा व योजना गति देने का काम पूरा होगा। करीब पांच वर्ष के बाद कल झोपड़पट्टी पुनर्वसन प्राधिकरण की बैठक हुई। इस अवसर पर गृहनिर्माण मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने कहा कि झोपड़पट्टी पुनर्वसन की अधर में लटकी योजना को गति देने के लिए कानून में जो कुछ संशोधन करने की आवश्यकता होगी, उसे जल्द से जल्द किया जाएगा। इसी प्रकार स्ट्रेस फंड बनाने के लिए आगामी मंत्रिमंडल की बैठक में प्रस्ताव लाया जाएगा। इस अवसर पर नगरविकास मंत्री एकनाथ शिंदे कहा कि मुंबई महानगर को छोड़कर बाकी मुंबई महानगर क्षेत्र, नपा और मनपा के लिए स्वतंत्र झोपड़पट्टी पुनर्विकास प्राधिकरण बनाया जाएगा। इस मौके पर परिवहन मंत्री अनिल परब ने कहा कि झोपड़पट्टी पुनर्वास परियोजनाओं को लागू करते समय डेवलपर्स को रियायतें दी जानी चाहिए, लेकिन उन्हें निर्धारित समय के भीतर काम करने के लिए बंधन होना चाहिए।