" /> कोरोना से जुड़ी समस्याओं का करो निपटारा

कोरोना से जुड़ी समस्याओं का करो निपटारा

मीरा-भाइंदर शिवसेना नगरसेविका व प्रवक्ता ने मनपा आयुक्त के सामने रखी मांग

मीरा-भाइंदर की शिवसेना नगरसेविका स्नेहा पांडे और शिवसेना प्रवक्ता शैलेश पांडे ने नवनियुक्त मनपा आयुक्त से मुलाकात कर कोरोना बीमारी से लोगों को हो रही समस्याओं से जुड़े महत्वपूर्ण मुद्दों पर विस्तृत चर्चा की। पांडे ने आयुक्त को बताया कि कोरोना से लड़ने में शहरवासियों को किन-किन समस्याओं से गुजरना पड़ रहा है।उन्होंने आयुक्त से तत्काल इन बिंदुओं को गंभीरता से लेकर इन्हें तत्काल दूर करने की मांग की है।
ज्ञात हो कि पूरे देश की तरह मीरा-भाइंदर शहर में भी कोरोना से लोग प्रभावित हैं, जिससे लोगों की आर्थिक स्थिति भी डगमगा गई है। इस पर ध्यान देते हुए पांडे ने मनपा आयुक्त डॉ. विजय राठौड से निम्नलिखित मांग की है, जिससे लोगों को यह लड़ाई लड़ने में थोड़ी राहत महूसस हो।

1) सरकारी अस्पताल में दाखिल कोविड-19 मरीजों की सही जानकारी सही समय पर उनके परिजनों को मिले, इसके लिए
तुरंत हेल्पलाइन एवं कॉल सेंटर शुरू किया जाए व जनसंपर्क स्टाफ की नियुक्ती की जाए।

2) नए कोविड के सरकारी अस्पताल बनाए जाएं एवं ज्यादा से ज्यादा आई सी यू सेंटर, ऑक्सिजन एवं वेंटिलेटर की व्यवस्था शीघ्र की जाए।

3) जो प्राइवेट अस्पताल कोविड-19 मरीजों से महाराष्ट्र शासन द्वारा तय शुल्क से ज्यादा का बिल वसूल रहे हैं, उन पर तुरंत कार्यवाही की जाए एवं हर प्राइवेट अस्पताल के बाहर महाराष्ट्र शासन द्वारा निर्धारित शुल्क की लिस्ट का बोर्ड लगाना अनिवार्य किया जाए ताकि किसी भी कोरोना मरीज व उसके परिवार का आर्थिक और मानसिक शोषण न हो।

4) स्कूली विद्यार्थियों की 6 महीने की फीस एवं टर्म फीस माफ की जाए।

5) मीरा-भाइंदर क्षेत्र के नागरिकों का एक साल का हाउस टैक्स व पानी का बिल माफ किया जाए।

6) बिजली का बिल 6 महीने का माफ किया जाए।

7) गरीब एवं निम्न मध्यमवर्गीय राशन कार्ड धारकों सहित जिनके पास राशन कार्ड नहीं है, उन्हें भी तीन महीने तक राशन मुफ्त में दिया जाए।

पांडे ने मनपा आयुक्त से कहा कि इन समस्याओं के बारे में पहले भी मनपा को दो बार पत्र दे चुके हैं, इन पर शीघ्र कार्यवाही की जाए ताकि कोरोना संकट की इस घड़ी में नागरिकों को राहत मिले क्योंकि लंबे लॉकडाउन के चलते लोगों की आर्थिक स्थिति कमजोर हो चुकी है और ऐसी स्थिति में हमें जरुरतमंद व पीडितों की हरसंभव सहायता करनी है। अगर ऐसा नहीं होता है तो हम शिवसेना स्टाइल मे जवाब देंगे।