" /> मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने परप्रांतीय मजदूरों से किए वादे को किया पूरा : यूपी के 847 मजदूर विशेष ट्रेन से हुए गांव रवाना

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने परप्रांतीय मजदूरों से किए वादे को किया पूरा : यूपी के 847 मजदूर विशेष ट्रेन से हुए गांव रवाना

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने परप्रांतीय मजदूरों से वादा किया था कि उन्हें सुरक्षित, सकुशल घर भेजेंगे। वे किसी भी प्रकार की चिंता न करे। सरकार उनके साथ है। मुख्यमंत्री ने अपना वादा पूरा करते हुए कल नासिक से उत्तर प्रदेश के 847 मजदूरों को विशेष ट्रेन से भेजने की कार्यवाही पर अमल शुरू कर दिया है। बता दे कि परप्रांतीय मजदूरों को नासिक प्रशासन ने परिवार की तरह रखा था। डेढ़ महीने से सभी मशीनरी मजदूरों की मदद कर रही थी। कल उत्तर प्रदेश के 847 मजदूरों को विशेष ट्रेन से नासिक से लखनऊ के लिए रवाना किया गया। गाडी छूटते ही यात्रियों ने महाराष्ट्र सरकार की जय, जय महाराष्ट्र, ऐसी घोषणा देते हुए नासिक प्रशासन को धन्यवाद दिया। अन्न-नागरी आपूर्ति व ग्राहक संरक्षण मंत्री तथा जिले के पालकमंत्री छगन भुजबळ ने यात्रियों को बिदा किया। यात्रियों को बिदा करते समय छगन भुजबल भावुक हो गए।
लॉक डाउन की घोषणा के समय मुंबई से उत्तर प्रदेश के लिए रवाना हुए मजदूरों को इगतपुरी, नासिक में रोक दिया गया और एक आश्रय स्थल में ठहराया गया था। इन सभी मजदूरों को कल नासिक से विशेष ट्रेन से उत्तर प्रदेश के लिए रवाना किया गया। पालकमंत्री छगन भुजबल विदाई के मौके उपस्थित थे। इस अवसर पर कलेक्टर जिलाधिकारी सूरज मांढरे, पुलिस आयुक्त विश्वास नागरे पाटील, सहायक जिलाधिकारी कुमार आशिर्वाद, उपजिलाधिकारी नितीनकुमार मुंडावरे, तहसीलदार परमेश्वर कासुले आदि उपस्थित थे। कल ट्रेन से उत्तर प्रदेश रवाना होनेवाले मुंबई, नालासोपारा, कल्याण, नेरूल के मजदूर थे। भुजबल ने बताया ये सभी मजदूर नीबू पानी, वडा पाव , दूध आदि का व्यवसाय करनेवाले थे।। इन सभी मजदूरों के लिए डेढ़ महीने से राहत शिबीर में दोनों टाइम भोजन, चाय, नाश्ता आदि की व्यवस्था सरकार कर रही थी।