टैक्सी स्टैंड पर निजी वाहनों का कब्जा, शौच के लिए जाओ तो पुलिस लगाती है जुर्माना

मुंबई में बढ़ती ट्रैफिक समस्या का साइड इफेक्ट अब टैक्सीवालों पर पड़ने लगा है।  ट्रैफिक के कारण निजी कार मालिक टैक्सीवालों के लिए आरक्षित टैक्सी स्टैंड पर कार पार्क कर कब्जा कर रहे हैं। ऐसे में जब खाली जगह देखकर टैक्सीवाले मजबूरी में शौच या फिर खाना-खाने के लिए सड़क किनारे टैक्सी पार्क करते हैं तो ट्रैफिक पुलिस इन्हें जुर्माना ठोकती है।
बता दें कि दक्षिण मुंबई में काली-पीली टैक्सी स्टैंड पर निजी कारवालों ने कब्जा जमाना शुरू कर दिया है। निजी कार मालिकों की इस दादागीरी से इन दिनों टैक्सीवाले परेशान हैं। टैक्सी चालक संदीप मौर्य का कहना है कि टैक्सी स्टैंड पर केवल टैक्सी वाले ही अपनी टैक्सी खड़ी कर सकते हैं लेकिन निजी कार मालिक अपनी कार टैक्सी स्टैंड पर पार्क कर देते हैं। इन्हें ट्रैफिक पुलिस भी कुछ नहीं बोलती है और न ही उन्हें किसी तरह का जुर्माना ठोकती है। मौर्य का कहना है कि यदि टैक्सी चालक शौच या फिर दोपहर के समय खाना खाने के लिए टैक्सी कहीं सड़क किनारे कुछ समय के लिए पार्क कर दें तो ट्रैफिक पुलिस जुर्माना लगा देती है। वहीं अन्य टैक्सी चालक रामअवध गुप्ता का कहना है कि ताड़देव स्थित स्वाति स्नेकस होटल के पास चार गाड़ियों का टैक्सी स्टैंड है। नानूमल होटल के सामने २ गाड़ियों का स्टैंड है। इसी तरह पारसी गमाड़िया कॉलोनी और तालमिकी वाड़ी के पास भी टैक्सी स्टैंड है लेकिन यहां काली-पीली टैक्सी खड़ी करने की कहीं भी जगह नहीं रहती है। निजी वाहन यहां पार्क कर लोग चले जाते हैं। ट्रैफिक पुलिस इन पर कार्रवाई नहीं करती  है।