" /> 24 मई तक वागले इस्टेट परिसर बंद : केवल मेडिकल व दूध की दुकानें रहेंगी शुरू

24 मई तक वागले इस्टेट परिसर बंद : केवल मेडिकल व दूध की दुकानें रहेंगी शुरू

ठाणे मनपा की सीमा में कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है। शहर के वागले इस्टेट परिसर से सबसे अधिक कोरोना मरीज मिले हैं। ठाणे मनपा आयुक्त ने सुरक्षा की दृष्टि से वागले इस्टेट परिसर को 17 मई से 24 मई तक पूरी तरह बंद रखने का निर्णय लिया है।
बता दें कि शहर में वागले इस्टेट परिसर में पौने दो सौ से भी अधिक पॉजिटिव मरीज मिले हैं। मनपा के अनुसार लॉकडाउन के बावजूद बार-बार चेतावनी दिए जाने पर भी इन भागों में लोगों की भीड़ कम नहीं हुई है और लोग सोशल डिस्टेंसिंग का ठीक तरह से पालन नहीं कर रहे हैं, ऐसे में स्थिति में सुधार होने की बजाय कोरोना का संसर्ग बढ़ ही रहा है। ऐसे में पूर्ण बंदी के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं है। मनपा आयुक्त विजय सिंघल के आदेश पर उपायुक्त संदीप मालवी की तरफ से जारी परिपत्रक के अनुसार अगले आदेश तक उक्त परिसर में सब्जी, फल, किराना, बेकरी प्रॉडक्ट, मछली, चिकन, मटन, नारियल, अंडा, आलू-प्याज इत्यादि सामानों की बिक्री नहीं हो सकेगी। इसके साथ ही सामानों की होम डिलीवरी पर भी पूरी तरह से बंदी लगाई गई है। बंदी के दौरान सिर्फ दूध की दुकाने और मेडिकल स्टोर खुले रहेंगे। विभिन्न उपाय योजनाओं की असफलता को देखते हुए अंतत: मनपा प्रशासन ने 7 दिन के लिए बंद का फैसला किया है।
परिसर पूरी तरह बंद
वहीं किसन नगर, शांति नगर, डिसूजा वाड़ी, शिवाजी नगर, अंबिका नगर, जय भवानी नगर, रामनगर, सीपी तालाब, श्री नगर, कैलाश नगर, वारली पाड़ा, साठे नगर, इंदिरानगर, ज्ञानेश्वर नगर, काजूवाड़ी हैं।