" /> २०२१ के आखिर तक यूं ही जारी रहेगा जिंदगी का सफर, बोले कोविड-१९ के विशेषज्ञ फाउची

२०२१ के आखिर तक यूं ही जारी रहेगा जिंदगी का सफर, बोले कोविड-१९ के विशेषज्ञ फाउची

अमेरिका के कोरोना वायरस विशेषज्ञ डॉ. एंथनी फाउची की बातों पर यदि यकीन किया जाए तो अगले साल के आखिर तक लोगों की जिंदगी का सफर यूं ही जारी रहेगा। फाउची का कहना है कि २०२१ के अंत तक जिंदगी सामान्य होने की उम्मीद नहीं है। कोरोना वायरस की वैक्सीन मदद करेगी, लेकिन उसकी कुछ शर्तें हैं। उनका ये भी मानना है कि कोरोना की जितनी वैक्सीन पर काम हो रहा है, उनमें से किसी एक को २०२० के अंत तक या २०२१ में मंजूरी मिल जाए।
फाउची का कहना है कि भले ही वैक्सीन को इस साल के आखिर तक या अगले साल मंजूरी मिल जाती है, लेकिन यह सभी लोगों के लिए तुरंत उपलब्ध नहीं हो पाएगी। एक मीडिया इंटरव्यू में फाउची ने कहा कि मंजूरी मिलने के बाद वैक्सीन का बड़े पैमाने पर उत्पादन और सप्लाई की जरूरत होगी। २०२१ के मध्य या अंत तक आबादी के बड़े हिस्से को वैक्सीन देने और उन्हें सुरक्षित करने का काम पूरा होता नहीं दिखता। बता दें कि जितनी भी कोरोना वैक्सीन पर फिलहाल काम चल रहा है, उनमें से ज्यादातर को प्रâीजर में ठंडा रखना होता है। फाउची ने कहा कि वैक्सीन के कोल्ड स्टोरेज को लेकर भी समस्या पैदा होती है। एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के लिए कोल्ड चेन बनाना पड़ता है। फाउची ने रेस्त्रां-बार और अन्य जगहों पर लोगों की भीड़ लगने की घटना पर भी चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि युवा सोच सकते हैं कि वे गंभीर बीमार नहीं होंगे। लेकिन उन्हें यह नहीं भूलना चाहिए उनके संक्रमित होने से अन्य लोग भी बीमार हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि लोग कोरोना को लेकर गलत जानकारी भी पैâला रहे हैं, जिसकी वजह से वायरस से लड़ाई और भी मुश्किल हो गई है। फाउची ने कहा कि उन्हें ये चीज काफी परेशान करती है कि बिना वैज्ञानिक सबूत के कई दवाओं के बारे में दावा किया जाता है कि इनके काफी फायदे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसी थ्योरी को खारिज करने में उनका और अन्य विशेषज्ञों का काफी समय बर्बाद हो जाता है।