यूपी से 25 हजार होमगार्डों की हो सकती है हकाल पट्टी

उत्तर प्रदेश में 25 हजार होमगार्ड बेरोजगार हो सकते हैं. गृह विभाग पुलिस थानों और ट्रैफिक सिग्नल से इनकी तैनाती खत्म करने पर विचार कर रही है. गृह विभाग के सूत्रों का कहना है कि ट्रैफिक सिग्नल और पुलिस स्टेशनों में तैनात किए गए होमगार्ड्स को उनके कर्तव्यों से मुक्त कर दिया जाएगा.

राज्य का होमगार्ड विभाग मांग के आधार पर उनको काम सौंपेगा. अगर कोई भी काम उपलब्ध नहीं है तो ये होमगार्ड कुछ भी नहीं कमा पाएंगे, क्योंकि उन्हें दैनिक आधार पर भुगतान किया जाता है. राज्य सरकार के सूत्रों ने आगे कहा कि होमगार्ड्स का दैनिक भत्ता 500 रुपये से बढ़ाकर 672 रुपये किया जाएगा.

वहीं दिसंबर 2016 से लंबित बकाया राशि भी उन्हें दी जाएगी. लेकिन सरकार बजट बढ़ाने के लिए तैयार नहीं है और इस कारण होमगार्ड्स को नियमित काम नहीं मिल सकता है. उत्तर प्रदेश में 90 हजार से ज्यादा होमगार्ड्स हैं. राज्य सरकार के प्रस्तावित फैसले के कारण अब 25 हजार होमगार्ड्स की नौकरी पर तलवार लटक रही है.

इंडिया टुडे से बात करते हुए योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री और राज्य सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने कहा कि होमगार्ड विभाग के लिए आवंटित बजट वर्तमान में नहीं बढ़ाया जा सकता है, लेकिन भविष्य में इसे बढ़ाने के लिए कदम उठाए जाएंगे.