" /> कल्याण-डोंबिवली पर ‘तीसरी नजर’!, लगेंगे ८०० सीसीटीवी वैâमरे ३२० स्थानों पर नए सिग्नल

कल्याण-डोंबिवली पर ‘तीसरी नजर’!, लगेंगे ८०० सीसीटीवी वैâमरे ३२० स्थानों पर नए सिग्नल

कल्याण-डोंबिवली मनपा क्षेत्र के अंर्तगत सुरक्षा तथा यातायात व्यवस्था को नया रंग-रूप देने के लिए सिग्नल के साथ सीसीटीवी लगाने का काम शुरू कर दिया गया है। कल्याण-डोंबिवली में अब ‘तीसरी नजर’ अर्थात सीसीटीवी कैमरों से नजर रखी जाएगी। शहर के ज्यादातर चौक-चौराहों पर सिग्नल व्यवस्था लागू नहीं है। स्मार्ट सिटी योजना के तहत शुरू की गई यह परियोजना यातायात तथा सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर बेहद महत्वपूर्ण साबित होनेवाली है। जहां सिग्नल नहीं है वहां लगाया जाएगा ताकि यातायात व्यवस्था मजबूत हो सके।
बढ़ती आबादी और जाम
कल्याण-डोंबिवली की आबादी तेज गति से बढ़ रही है। सैकड़ों की संख्या में नए-नए गृह संकुलों का निर्माण हुआ है और हो रहा है। आबादी के साथ शहर का आकर-प्रकार भी बदल रहा है। वाहनों की संख्या में भारी बढ़ोत्तरी दर्ज की जा रही है। चौक-चौराहों पर सिग्नल की समुचित व्यवस्था न होने की वजह से हमेशा जाम की स्थित बनी रहती है। इससे निपटने के लिए पिछले वर्ष सभी चौक और चौराहों पर सिग्नल के साथ सीसीटीवी लगाने का काम शुरू किया गया था। लॉकडाउन में ढील मिलने के बाद बंद पड़ी इस परियोजना को जोर-शोर के साथ फिर से शुरू कर दिया गया है।
स्थानों का हो चुका है सर्वेक्षण
कल्याण, डोंबिवली, टिटवाला तथा शहाड स्थित मुख्य चौक-चौराहों का पिछले वर्ष सर्वेक्षण किया गया था। पुलिस तथा मनपा अधिकारियों द्वारा किए गए इस सर्वेक्षण में यातायात तथा सुरक्षा दृष्टि से ३२० जगहों की पहचान की गई थी। इन जगहों पर सिग्नल बैठाने तथा उनके खंभों पर सीसीटीवी लगाने का निर्णय लिया गया था। केडीएमसी स्मार्ट सिटी परियोजना के तकनीकी संपर्क अधिकारी प्रशांत भगत ने बताया कि इस परियोजना को नवंबर, २०२० तक पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था, परंतु लॉकडाउन के घोषित होने की वजह से तीन से चार महीने की देरी हुई है। कार्यकारी अभियंता तरुण तनेजा का कहना है कि लॉकडाउन में ढील के बाद युद्ध स्तर पर काम शुरू हो चुका है। जनवरी, २०२१ तक पूरे शहर में ८०० सीसीटीवी तथा ३२० सिग्नल लगाने का काम पूर्ण कर लिए जाने का लक्ष्य निर्धारित कर तेजी से काम किया जा रहा है।