" /> पुलिसकर्मियों के लिए ट्रैफिक बना सिरदर्द!

पुलिसकर्मियों के लिए ट्रैफिक बना सिरदर्द!

सड़कों पर लौट आईं हजारों गाड़ियां

लॉक डाउन का पांचवा चरण या केंद्र की भाषा में कहे तो अनलॉक-1 सोमवार से शुरू हो गया है। इस चरण में राज्य सरकार की तरफ से काफी रियायतें दी गई हैं लेकिन कंटेंनमेंट जोन में नियम पहले की तरह ही है। मुंबई की सड़कें जो सुनसान पड़ी थीं और इक्का-दुक्का वाहन ही नजर आते थे, वहां सोमवार सुबह वाहनों का सैलाब उमड़ पड़ा। इससे ट्रैफिक की समस्या एक बार फिर उत्पन्न हो गई, जिससे पुलिसकर्मियों का सिरदर्द शुरू हो गया।
ट्रैफिक विभाग के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त प्रवीण पडवल ने बताया कि वेस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे एवं ईस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे पर ट्रैफिक अधिक देखने को मिल रहा है। उन्होंने बताया कि फिलहाल नाकाबंदी जारी है। 3 जून से ट्रैफिक अधिक बढ़ने की उम्मीद है। सोशल डिस्टेंसिंग और पब्लिक ट्रांसपोर्ट न होने की वजह से लोग अपने निजी वाहन लेकर यात्रा कर रहे हैं। सड़क पर पहले से ही जरूरी सामान ले जानेवाली गाड़ियों की आवाजाही जारी है, ऐसे में आनेवाले दिनों में ट्रैफिक बढ़ने की उम्मीद नजर आ रही है। केंद्र सरकार की तरफ से कहा गया है कि लॉकडाउन का पांचवा चरण 30 जून तक चलेगा, लेकिन पूरी तरह लॉकडाउन सिर्फ कंटेंनमेंट जोन में ही रहेगा। ऐसे में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को बताया कि  3 जून से पार्क, प्ले ग्राउंड, बीच, व्यायाम करने की इजाजत दी गई है, वहीं ओड इवन के आधार पर 5 जून से मॉल एवं शॉपिंग काम्प्लेक्स को छोड़कर अन्य दुकानें खोलने का फैसला लिया गया है। लेकिन सोमवार से ही लोग अपने निजी वाहनों के साथ सड़कों पर दिखाई दिए।