" /> सत्य सत ही होता है!

सत्य सत ही होता है!

सत्य सत ही होता है
रोकने से भी नहीं रुकता है
छिपाने से भी नहीं छिपता है,
ढकने से भी नहीं ढकता है
सत्य सत ही होता है।
पाप बढ़ने पर बोलता है
गलत-गलत ही होता है
अहंकार जब टूटता है,
घमंड जब मिटता है
सत्य सत ही होता है।
सुविचार जब आता है
नेक काम करवाता है
अच्छे संस्कार दिलाता है,
उन्नति की ओर ले जाता है
सत्य सत ही होता है।
बुरे विचार जब आते हैं
बुरे काम करवाते हैं
अर्श से फर्श पर आ जाते हैंै,
सुपर्देखाख हो जाते हैं
सत्य सत ही होता है।
जीवन बड़ा अनमोल है
नहीं इसका कोई मोल है
पूरा करना अपना गोल है,
संसार में खूब झोल है
सत्य बड़ा भूगोल है।
समय नहीं रुकता है
बीता पल नहीं आता है
समय को जो भुनाता है,
आगे वही बढ़ जाता है
सत्य सत ही होता है।
अच्छे काम जब होते हैं
मन को सुकून देते हैं
देश-दुनिया में जाहिर होते है,
जीवन हर्षित होता है
सत्य सत ही होता है।
– अरविंद `अनुभवी’ अमेठी