" /> *महाजॉब्स पोर्टल के माध्यम से पारदर्शी रूप से उपलब्ध होना चाहिए रोजगार -मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

*महाजॉब्स पोर्टल के माध्यम से पारदर्शी रूप से उपलब्ध होना चाहिए रोजगार -मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

मजदूरों की नहीं करो कटौती
उद्योगपतियों से आह्वान*

देश का सबसे बड़ा प्लाज्मा केंद्र हो या कुछ और महाराष्ट्र ने हमेशा देश को एक अग्रणी और शानदार काम करके दिखाया है, ऐसा कहते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कल महाजॉब्स पोर्टल का उद्घाटन किया।
उन्होंने कहा कि वेबसाइट ‘महाजॉब्स’ महाराष्ट्र की सबसे प्रतिष्ठित वेबसाइटों में से एक है और उम्मीद है कि इस पोर्टल के माध्यम से भूमिपुत्रों को पारदर्शी तरीके से रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। मुख्यमंत्री ने उद्योग विभाग को राज्य के युवाओं के लिए मोबाइल पर ‘महाजॉब्स’ नामक एक ऐप उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। राज्य में स्थानीय भूमिपुत्रों को रोजगार के अवसर प्रदान करके देने के लिए वेबसाइट http://mahajobs.maharashtra.gov.in, लॉन्च किया गया था। इस पोर्टल का मुख्यमंत्री के हाथों लोकार्पण किया गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने उक्त बातें कहीं। इस अवसर पर उद्योग मंत्री सुभाष देसाई, कामगार मंत्री दिलीप वलसे-पाटील, कौशल्य विकास मंत्री नवाब मलिक, उद्योग राज्यमंत्री श्रीमती आदिती तटकरे सहित उद्योग विभाग के प्रधान सचिव बी. वेणुगोपाल रेड्डी, एमआईडीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. पी. अनबलगन, विकास आयुक्त डॉ. हर्षदीप कांबले, राज्य के प्रत्येक भागों के उद्योगपति और रोजगार का अवसर मौका खोज रहे भुमिपुत्र इस कार्यक्रम में सहभागी हुए।
*बेरोजगार युवकों को काम उपलब्ध करके देनेवाला है यह पोर्टल *
महाजॉब्स पोर्टल को लॉन्च करते हुए मुख्यमंत्री ने आशा व्यक्त की कि यह पोर्टल सरल और अधिक सुलभ होगा, यह कहते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अतीत में केवल बेरोजगारों को रोजगार एक्सचेंज के माध्यम से जानकारी मिलती थी लेकिन यह ज्ञात नहीं होता था कि कितने लोगों को रोजगार मिला।  इस पोर्टल के साथ ऐसा नहीं होना चाहिए। नौकरी और रोजगार के लिए इस पोर्टल का कितना उपयोग हो रहा है, इसकी नियमित समीक्षा की जानी चाहिए, ऐसा मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया। यह पोर्टल  बेरोजगारी रजिस्टर्ड करने के लिए नहीं, बेरोजगारों को काम उपलब्ध कराकर देनेवाला पोर्टल है, ऐसा भी मुख्यमंत्री ने कहा।
* उद्योगों को मनुष्यबल की जरूरतों को पोर्टल के माध्यम से पूरा किया जाना चाहिए *
महाजॉब्स के माध्यम से राज्य के उद्योगपतियों और भूमिपुत्रों दोनों की जरूरतों को पूरा किया जाना चाहिए, उद्योगों को आवश्यक मानव शक्ति मिलनी चाहिए और युवाओं को रोजगार मिलना चाहिए।  इस समन्वय के माध्यम से राज्य का तेजी से विकास होगा और घर-घर में खुशहाली आएगी, ऐसी अपेक्षा मुख्यमंत्री ने व्यक्त की।
*कोरोना ने आत्मनिर्भर होना सिखाया *
मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा कि हालांकि कोरोना ने हमारे सामने संकट पैदा कर दिया है लेकिन इसने हमें बहुत कुछ चीजें भी सिखाई हैं। कोरोना ने घर पर स्वास्थ्य की देखभाल करने के साथ-साथ आत्मनिर्भर होना भी सिखाया है।
*मजदूरों की कटौती मत करो *
होटल व्यवसायियों और श्रमिकों की एक बैठक कल आयोजित की गई थी, यह कहते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मुंबई, पुणे, नासिक, संभाजीनगर जैसे औद्योगिक क्षेत्रों के सामने अभी भी कोरोना का संकट है। एक तरफ इस स्थिति में हम राज्य में नए निवेशों को आमंत्रित कर रहे हैं, उनके साथ एमओयू का करार करते हुए कई सुविधाएं प्रदान कर रहे हैं। कोरोना के कारण अन्य राज्यों के श्रमिक अपने गृह राज्य चले गए हैं, जिसके कारण राज्य में नौकरियां उपलब्ध हो रही हैं परंतु मजदूर नहीं हैं, ऐसी परिस्थिति एक तरफ है, तो दूसरी तरफ कई उद्योग मजदूरों की कटौती कर रहे हैं। यह बात योग्य नहीं है। राज्य सरकार उद्योगपतियों का सामना करनेवाले मुद्दों को दूर करने के लिए तैयार है। ऐसे में श्रमिकों की संख्या को कम करना उचित नहीं है। उद्योग विभाग को इन सभी उद्योगपतियों से बात करनी चाहिए और उन्हें आश्वस्त करना चाहिए कि उनकी समस्याओं का समाधान किया जाएगा, ऐसा मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा।
बेरोजगारी समाप्त करने का मौका -सुभाष देसाई
उद्योग विभाग द्वारा किए गए एक सर्वेक्षण के अनुसार राज्य के उद्योगों में 50,000 नौकरियां उपलब्ध हैं इसलिए इस पोर्टल के माध्यम से सरकार ने नौकरी चाहनेवालों और नौकरी देनेवालों बीच समन्वय करने की कोशिश की है। इस महाजॉब पोर्टल द्वारा इंजीनियरिंग, लॉजिस्टिक्स, केमिकल आदि 17 क्षेत्रों का चयन किया गया है, जिसमें से 950 व्यवसाय के लिए इच्छुक उम्मीदवार चयन कर सकते हैं। स्थानीय भूमिपुत्रों को ही नौकरी के अवसर मिलें, इसके लिए इसमें डोमिसाइल प्रमाणपत्र की शर्त रखी गई है। इसके द्वारा राज्य में बेरोजगारी को समाप्त करने में मदद मिलेगी, ऐसा देसाई ने कहा।
महाराष्ट्र प्रगति की ओर लगाएगा छलांग- दिलीप वलसे-पाटील
उद्योग, श्रम और कौशल विकास के एक साथ आने से महाराष्ट्र को आगे बढ़ने में मदद मिलेगी। इस पोर्टल से नए-पुराने, कुशल-अकुशल श्रमिकों को स्थायी नौकरी मिलेगी। यह बात श्रम मंत्री दिलीप वलसे-पाटील ने इस मौके पर कही।
नए उद्योगों के लिए सुविधाजनक होगा पोर्टल-  नवाब मलिक
नए उद्योगों के सुविधा के लिए यह महाजॉब्स पोर्टल उपयोगी होगा। नए उद्योगों के लिए नए अवसर पैदा हो रहे हैं। महापोर्टल में पंजीकरण की जानकारी ऑनलाइन रोजगार सम्मेलन के लिए उपयोगी सबित होगी, ऐसा नबाब मलिक ने कहा। राज्य के युवक-युवतियों को इस पोर्टल द्वारा अवश्य फायदा होगा, ऐसा उद्योग राज्यमंत्री आदिती तटकरे ने कहा। इस मौके पर विको लैबरोटरीज, दीपक फर्टिलाइजर ने तत्काल कर्मचारियों की आवश्यकता की बात दर्ज कराई। राज्य के उद्योजक व युवकों ने इस पोर्टल का स्वागत किया है। वेबपोर्टल के अनावरण होने के बाद कई युवकों ने नौकरी के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिए हैं।