" /> अस्थाई मजदूरों का वेतन न काटें : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का आह्वान

अस्थाई मजदूरों का वेतन न काटें : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का आह्वान

कोरोना को नियंत्रित करने के लिए मुंबई, ठाणे, नई मुंबई सहित सभी एमएमआर परिसर, पुणे, पिंपरी-चिंचवड, नागपुर की सभी दुकानों, कार्यालयों को बंद रखने का निर्णय राज्य सरकार ने लिया है। इस निर्णय का असर दिहाड़ी पर काम करनेवाले मजदूरों पर न पड़े इसलिए इन अस्थाई मजदूरों का वेतन न काटने और ठेके पर काम करनेवाले कर्मचारियों को नौकरी से न निकालने का आह्वान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने किया है। इस आह्वान के अनुसार राज्य के श्रम आयुक्तालय ने ऐसी अपील सभी कारखानों व व्यवसाइयों से की है।
श्रम आयुक्त डॉ. महेंद्र कल्याणकर ने राज्य के सभी कामगार उपायुक्त, सहायक आयुक्त, श्रम अधिकारी को उनके अंतर्गत आनेवाले माथाड़ी सहित सभी निजी व सार्वजनिक संस्थानों को अस्थाई रूप से काम करनेवाले कर्मचारियों को नौकरी से न हटाने और उनके वेतन में कटौती न करने की विनती करने का आदेश दिया है। सभी संस्थानों, कंपनियों को लिखे पत्र में डॉ. महेंद्र कल्याणकर ने कहा है कि इस चुनौतीपूर्ण स्थिति में सरकार को सहयोग करना चाहिए एवं अगर किसी कर्मचारी ने इस अवधि में अवकाश लिया है तो उनके वेतन में कटौती न करें। अगर किसी जगह पर कोरोना का प्रकोप हुआ है और वहां बंद करना पड़ रहा हो तो वहां के कर्मचारियों और मजदूरों को नौकरी से न निकालें, जिससे उनके परिवार को आर्थिक संकट का सामना न करना पड़े।
दसवीं की परीक्षा आगे बढ़ी
आगामी सोमवार २३ मार्च को होनेवाली दसवीं के भूगोल विषय की परीक्षा आगे बढ़ा दी गई है। परीक्षा की नई तिथि की घोषणा ३१ मार्च के बाद की जाएगी। ये जानकारी स्कूली शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड ने दी है। कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए ये निर्णय लिया गया है। इससे पहले कक्षा पहली से लेकर आठवीं की परीक्षा रद्द करने की घोषणा राज्य सरकार कर चुकी है। नौवीं और ग्यारहवीं की परीक्षा के संदर्भ में १५ अप्रैल के बाद निर्णय लिए जाने की बात शिक्षामंत्री वर्षा गायकवाड पहले ही कह चुकी हैं। शिक्षकों को भी वर्क प्रâॉम होम करने की छूट दी गई है।