" /> रत्नागिरी को मिलेगा मेडिकल कालेज!

रत्नागिरी को मिलेगा मेडिकल कालेज!

-वायरस प्रयोशाला के ई-उदघाटन पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का एलान

*2 अन्य जिलों को भी प्रयोगशाला की स्वीकृति
*रत्नागिरी में सिर्फ 14 दिनों में बना प्रयोगशाला

रत्नागिरी जिले में वायरस प्रयोगशाला ने बुनियादी स्वास्थ्य सुविधाओं में वृद्धि की है। अब से वहां कोरोना परीक्षणों को गति दी जाएगी। इससे जिले में सभी को लाभ मिलेगा। अगर वहां मेडिकल कॉलेज की मांग है, तो इसे प्रस्तावित करें और हम इसे देंगे। यह एलान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस प्रयोगशाला के ऑनलाइन उद्घाटन के अवसर पर किया। रत्नागिरी जिला सामान्य अस्पताल में 1 करोड़ 7 लाख रुपये की लागत से एक वायरस प्रयोशाला स्थापित किया गया है। कल मुख्यमंत्री ठाकरे ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से इस कार्यक्रम का उद्घाटन किया।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि ठाकरे परिवार और कोंकण के बीच के विशेष संबंधों को हर कोई जानता है। मेरे दादाजी संयुक्त महाराष्ट्र आंदोलन में अग्रणी थे और आज मैं मुख्यमंत्री हूँ, इसलिए मैं पूरे महाराष्ट्र में काम कर रहा हूं। ऐसा उद्धव ठाकरे ने कहा। इस दौरान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रत्नागिरि और सिंधुदुर्ग के दो जिलों में इस तरह की प्रयोगशाला स्थापित करने के लिए विशेष स्वीकृति दी। केवल 14 दिनों में सभी प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद, यह अत्याधुनिक प्रयोगशाला स्थापित की गई है। इसकी मशीनरी और उपकरणों पर 80 लाख रुपये से अधिक खर्च किए गए हैं और इसके निर्माण पर 15 लाख रुपये खर्च किए गए हैं। मुख्यमंत्री ने बहुत तेज गति से सुविधा बनाने के लिए प्रशासन को बधाई दी। उन्होंने कहा कि राज्य में स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने के लिए लॉकडाउन का उपयोग करने की नीति के तहत राज्य में काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 का जब संकट शुरू हुआ, उस समय राज्य में केवल 2 प्रयोशाला थे। आज यह संख्या 85 हो गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का अगला काम सुविधाओं को बनाते हुए उनकी पहुंच के भीतर निरीक्षण की दरें लाना होगा ताकि नागरिकों को निरीक्षण के लिए दूर की यात्रा न करनी पड़े। इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि इस प्रयोशाला के उपलब्ध होने से कोविड वायरस के अलावा एच.आय.वी आदि की जांच संभव होनेवाली है। यह सुविधा सभी के लिए उपलब्ध होगी। रत्नागिरी प्रयोशाला विक्रमी समय में शुरू हुआ। इसके लिए उन्होंने सभी का अभिनंदन किया। जिले के पालक मंत्री एड अनिल परब, स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे, प्रधानसचिव प्रदीप व्यास, सिंधुदूर्ग के पालकमंत्री उदय सामंत, जिला परिषद अध्यक्ष रोहन बने, सांसद विनायक राऊत, विधायक राजन सालवी, शेखर निकम और प्रसाद लाड व विधायक भास्कर जाधव इस कार्यक्रम में सहभागी हुए। प्रारंभ में, रत्नागिरी के जिला कलेक्टर लक्ष्मीनारायण मिश्रा ने इस प्रयोगशाला के निर्माण के बारे में जानकारी दी। इस अवसर पर, प्रयोगशाला के कामकाज पर जिला सूचना कार्यालय द्वारा तैयार एक समाचार पत्र को उद्घाटन के बाद दिखाया गया था। इस कार्यक्रम का फेसबुक पर सीधा प्रसारण भी किया गया। कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक डॉ.प्रवीण मुंढे, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कान्हुराज बगाटे, जिला शल्य चिकित्सक डॉ. अशोक बोल्डे, निर्माण विभाग के अधिक्षक अभियंता जयंत कुलकर्णी आदि इस कार्यक्रम में उपस्थित थे। कान्हुराज बगाटे ने आभार प्रकट किया।