" /> मुख्यमंत्री का विश्वास हम ‘मिलकर’ होंगे कामयाब

मुख्यमंत्री का विश्वास हम ‘मिलकर’ होंगे कामयाब

-क्राउड फंडिंग के लिए www.milkar.org संकेतस्थल का किया उद्घाटन

‘यदि आप मुझसे पूछते हैं कि ईश्वर कहां है, तो मैं कहूंगा कि ईश्वर उन सभी के हाथों में है, जो मदद करते हैं। सफलता तभी मिलती है, जब सभी एक साथ काम करते हैं। इसलिए आप सभी के सहयोग और मदद से कोरोना के विरुद्ध हम युद्ध अवश्य जीतेंगे।’ ऐसा विश्वास मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कल व्यक्त किया। कॉरपोरेट घराने व गैर सरकारी संगठन आदि जो वेबसाइट के माध्यम से जरूरतमंदों तक भोजन पहुंचाते हैं, उनका मुख्यमंत्री ने अभिनंदन किया। मुंबईकरों से आगे आने और ‘मिलकर’ मंच के माध्यम से दान करने का आह्वान मुख्यमंत्री ने किया।
कल मुख्यमंत्री के हाथों क्राउडफंडिंग वेबसाइट https://milkar.ketto.org/covid19 का उद्घाटन हुआ। बृहन्मुंबई मनपा, कॉरपोरेट घरानों और गैर-सरकारी संगठनों ने मिलकर इस मंच को विकसित किया है और यह भूखों को भोजन प्रदान करने के लिए एक सेतु का काम करेगा। गोदरेज एंड बॉयसी, आरपीजी फाऊंडेशन, एटीई चंद्रा फाऊंडेशन के द्वारा इसके फंड में काफी वृद्धि की जाएगी। यदि कोई योगदान करता है, तो पांच गुना राशि इसमें जोड़ी जाएगी और उस धन का उपयोग संबंधित वार्डों में लोगों को भोजन सुविधा के लिए किया जाएगा। इस उद्घाटन समारोह में पर्यटन, पर्यावरण और शिष्टाचार मंत्री आदित्य ठाकरे और विभिन्न कॉर्पोरेट घरानों और गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। इनमें आरपीजी फाउंडेशन की राधा गोयनका, अक्षय गुप्ता, केतु के कुणाल कपूर, अनंत गोयनका और बृहन्मुंबई मनपा के अधिकारी शामिल थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि मार्च में राज्य में कोविड की शुरुआत के बाद से राज्य सरकार ने कई उपाय किए हैं। क्या राज्य सरकार ने अकेले यह काम किया? नहीं। कई मदद करनेवाले हाथ सरकार के साथ आगे आए, मुझे उन सभी लोगों पर गर्व है, जिन्होंने मदद की। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में कई लोग, गैर सरकारी संगठन, कॉर्पोरेट घराने शामिल हैं। सरकार उन सभी लोगों के पीछे मजबूती से खड़ी है, जो मदद करते हैं। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि अगर उन्हें आगे बढ़ने में कोई कठिनाई का सामना करना पड़ता है, तो सरकार आपके साथ है। ऐसा आश्वासन मुख्यमंत्री ने इस मौके पर दिया।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि मिशन बिगन अगेन जारी रहने के कारण कोरोना रोगियों की संख्या बढ़ रही है। कुछ जगहों पर फिर से तालाबंदी जारी है, ऐसा होना जारी रहेगा, लेकिन अपने मन से डर को निकालिए और मदद के लिए आगे आइए। जब तक कोरोना का प्रभाव नहीं रुकता है, तब तक मदद का काम जारी रखें। बारिश में अड़चन हो सकती है। इस परिस्थिति में आप अभी की मदद को आवश्यकता है। ऐसा मुख्यमंत्री ने कहा।

पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे ने मिलकर टीम को दी बधाई
इस अवसर पर पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि ‘मिलकर’ मंच के माध्यम से जरूरतमंदों को राशन किट वितरित करना संभव होगा और उम्मीद है कि कोई भी मुंबई में भूखा नहीं रहेगा। ‘मिलकर’ की यह पहल बहुत सराहनीय है, उन्होंने मिलकर की टीम को बधाई दी और आगे के सभी प्रयासों के लिए उन्हें शुभकामनाएं दीं।

ये है ‘मिलकर’ का उद्देश्य
कोरोना वायरस ने हमें अपने जीवन में कई महत्वपूर्ण चीजों को सिखाया है। इसमें सामूहिक कार्य की शक्ति कई महत्वपूर्ण पाठों में से एक है। ‘मिलकर’ एक पुल है जो उन लोगों को जोड़ता है जिनके पास जरूरत के अनुसार सब कुछ है। यह इन सभी लोगों, ग्रेटर मुंबई मनपा और गैर-सरकारी संगठनों, कॉरपोरेट घरानों की भूख मिटाने के संयुक्त प्रयासों का नतीजा है। इसमें जितनी रकम दान होगी, उसके पांच गुना रकम कॉर्पोरेट हाउसेस की ओर से डाला जाएगा। मिलकर मंच की यह शक्ति है। प्रथम, युवा, चाईल्ड राईटस एंड, यू, चाईल्ड हूड टू लाईवहूड, अक्षयपात्र, फ्रॉम यू देम, सलाम मुंबई, क्राय जैसी स्वंयसेवी संस्था इसमें सहभागी हुई हैं।