" /> विप्रो की मदद से स्वास्थ्य क्षेत्र में मूलभूत सुविधा होगी मजबूत – मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

विप्रो की मदद से स्वास्थ्य क्षेत्र में मूलभूत सुविधा होगी मजबूत – मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

पुणे के हिंजेवाडी में बनेगा  विशेष कोविड -19 अस्पताल
४५० बेड के अस्पताल के लिए विप्रो व महाराष्ट्र सरकार में सामंजस्य करार

वैश्विक सूचना प्रौद्योगिकी, परामर्श और व्यापार प्रसंस्करण सेवा कंपनी, विप्रो लिमिटेड ने पुणे में एक विशेष 450-बेड कोविद अस्पताल स्थापित करने का निर्णय लिया है। हाल ही में इस संबंध में महाराष्ट्र सरकार के साथ एक सामंजस्य करार किया गया है। यह विशेष कोविद अस्पताल पुणे के हिंजेवाड़ी में सूचना प्रौद्योगिकी परिसर में शुरू किया जाएगा।
महाराष्ट्र सरकार की ओर से पुणे जिला कलेक्टर और जिला मजिस्ट्रेट नवल किशोर राम की उपस्थिति में पुणे जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी आयुष प्रसाद और विप्रो लिमिटेड के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और ग्लोबल हेड ऑपरेशन के प्रमुख हरि प्रसाद हेगड़े ने करार पर हस्ताक्षर किए। इस मौके पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि विप्रो की यह मानवतावादी योगदान के कारण सरकार की स्वास्थ्य की मूलभूत सुविधा मजबूत होगी और संसर्ग के विरुद्ध लड़ाई में आगे रहे स्वास्थ्य क्षेत्र का सभी लोगों का इसका लाभ मिलेगा। 450 बेड का विशेष अस्पताल इस महीने के अंत तक मध्यम प्रकार के रोगियों के इलाज के लिए तैयार हो जाएगा। गंभीर रोगियों के लिये इस विशेष अस्पताल में 12 बेड उपलब्ध होंगे। यह कोविद 19 को समर्पित एक स्वतंत्र कॉम्प्लेक्स होगा। इस विशेष कॉम्प्लेक्स में इलाज कर रहे डॉक्टरों और चिकित्सा स्टाफ के आवास के लिए 24 कमरे भी होंगे। विप्रो प्रशासक के संरचना के अनुसार आवश्यक स्टाफ प्रदान करने साथ ही अस्पताल को तत्काल शुरु करने के लिए भौतिक अवसंरचना, चिकित्सा फर्नीचर और उपकरण भी प्रदान करेगा। विप्रो लिमिटेड, विप्रो एंटरप्राइजेज लिमिटेड और अजीम प्रेमजी फाउंडेशन ने मानव जीवन पर कोरोना वायरस के प्रभाव को रोकने में मदद के रूप में अब तक 1125 करोड़ रुपए का योगदान दिए है। विप्रो कंपनी ने मुंबई, पुणे, नगर आदि शहरों में 34 लाख से अधिक लोगों को कोरोना की लड़ाई में लाभ पहुंचाया है।