‘महाराष्ट्र जो तय करता है वही देश तय करता है’ -उद्धव ठाकरे

आज की सभा का मुहूर्त अच्छा है। आज रामनवमी है और कल बाबासाहेब की जयंती है। दोनों दिन का एक अलग ही महत्व है। कल खामगाव में प्रतापराव जाधव की सभा में प्रचंड भीड़ थी और आज इस सभा में भी जनसैलाब उमड़ पडा है। हमारी सभा में लोग किराए पर नहीं बल्कि दिल से शामिल होते हैं। महाराष्ट्र जो तय करता है, वही देश तय करता है। महाराष्ट्र और देश ने यह तय कर लिया है कि महायुति की सत्ता केंद्र में आएगी इसलिए दिल्ली के तख्त पर एक बार फिर शिवसेना-भाजपा महायुति की ही सरकार विराजित होगी, ऐसे उद्गार शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने व्यक्त किए।
कल हिंगोली लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के महायुति के प्रत्याशी हेमंत पाटील के प्रचारार्थ हदगाव में भव्य सभा आयोजित की गई थी। इस सभा में उन्होंने उक्त उद्गार व्यक्त किए। इस दौरान उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस के मुखिया राहुल गांधी और राकांपा के मुखिया शरद पवार पर हंटर चलाया। उद्धव ठाकरे ने जलियांवाला बाग नरसंहार पर रोशनी डाली। उन्होंने कहा कि आज इस नरसंहार के १०० वर्ष पूर्ण हो गए हैं। हमें उन्हें श्रद्धांजलि देनी है, ऐसा भी उद्धव ठाकरे ने कहा।
सावरकर के खिलाफ बोलनेवालों के लिए नालायक शब्द भी कम
लोकसभा चुनाव के परिप्रेक्ष्य में महायुति का तूफान कल हिंगोली में आयोजित भव्य सभा में भी नजर आया। यहां भी शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे की तोप विपक्ष पर जमकर गरजी। शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कल विपक्ष और स्वातंत्र्यवीर सावरकर का अपमान करनेवालों पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सावरकर का अपमान करनेवालों के लिए नालायक शब्द भी कम है।
हिंगोली लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के महायुति के प्रत्याशी हेमंत पाटील के प्रचारार्थ हदगाव में आयोजित भव्य सभा को संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने शरद पवार पर जमकर कटाक्ष किया। शरद पवार कहते हैं कि बालासाहेब को माननेवाला वर्ग था। वे कहते हैं कि बालासाहेब का एक समय था जो कि अब नहीं है। हवा के रुख के साथ शिवसेना बदलती है। शरद पवार, पहले ये बताओ कि तुमने कब सच बोला है? ऐसा सवाल करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि शरद पवार ने हमेशा झूठ ही बोला है। बालासाहेब को माननेवाला वर्ग था नहीं, बल्कि आज भी है। इस दौरान उन्होंने शिवसेना द्वारा भाजपा से की गई युति पर कटाक्ष करनेवालों की भी जमकर खबर ली। उन्होंने कहा कि जिस समय मैंने युति की, उस समय उद्धव ठाकरे के रूप में मेरी कोई भी शर्त नहीं थी। मैंने यह युति राम मंदिर, जनता और किसानों के हित के लिए की है। इन सभी मुद्दों का उल्लेख भाजपा ने अपने संकल्पपत्र में किया है। कल उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस के घोषणापत्र का भी पंचनामा किया। राहुल गांधी कहते हैं कि उनकी सरकार सत्ता में आई तो देशद्रोह की धारा हटाई जाएगी। इसका मतलब यह धारा हटाने के बाद देश में कोई कुछ भी करे, उसे सजा नहीं मिलेगी। मुझे ये समझ नहीं रहा है कि राहुल गांधी का दिमाग ठिकाने पर है या नहीं? राहुल गांधी ने स्वातंत्र्यवीर सावरकर के बारे में जो भी कहा है, उसकी क्लिप मेरे पास है। जो स्वातंत्र्यवीर सावरकर के खिलाफ बोलता है, उसके लिए नालायक शब्द भी कम है। सावरकर ने जो यातनाएं सही हैं, ऐसी यातना अगर नेहरू ने सही होतीं तो मैं उन्हें सम्मान देता। उन्होंने कहा कि महायुति और कांग्रेस, दोनों दलों का घोषणापत्र आपके समक्ष है। हमारी महायुति के संकल्पपत्र में राम मंदिर निर्माण का उल्लेख है। कांग्रेस के घोषणापत्र में राम मंदिर का उल्लेख भी है क्या? ऐसा सवाल करते हुए उन्होंने नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए महायुति के प्रत्याशी हेमंत पाटील को भारी मतों से विजयी बनाने का आह्वान भी किया।