" /> अंडरग्राउंड का हाई स्पीड काम!, मेट्रो-३ के स्टेशनों का हो रहा विकास

अंडरग्राउंड का हाई स्पीड काम!, मेट्रो-३ के स्टेशनों का हो रहा विकास

मुंबई में विभिन्न मेट्रो रेल परियोजना का काम काफी तेज गति से आगे बढ़ रहा है। इन्हीं मेट्रो परियोजनाओं में से अंडर ग्राउंड मेट्रो-३ परियोजना के स्टेशनों के विकास का भी काम काफी तेज गति से आगे बढ़ रहा है। जानकारी के मुताबिक अंडर ग्राउंड मेट्रो के एमआईडीसी स्टेशनों का काम ७८ फीसदी और विधान भवन मेट्रो स्टेशन का काम अब तक ७३ फीसदी से अधिक पूरा हुआ है।
कुलाबा-बांद्रा-सिप्ज के बीच मुंबई में ३३.५ किमी लंबा मेट्रो का भूमिगत मार्ग तैयार किया जा रहा है। मेट्रो-३ कॉरिडोर के मार्ग पर कुल २६ स्टेशनों का निर्माण कार्य भी चल रहा है। स्टेशन निर्माण के लिए महानगर के कई स्थानों पर खुदाई की गई है। भूमिगत मेट्रो के लिए जमीन से करीब १५ से २० मीटर नीचे तक खुदाई की गई है। मुंबई की पहली भूमिगत मेट्रो के लिए करीब ८५ प्रतिशत टनल निर्माण का काम पूरा कर लिया गया है। २६ मेट्रो स्टेशनों का निर्माण कार्य तीव्र गति से चल रहा है।
कहां कितना हुआ कार्य?
एमएमआरसीएल से प्राप्त मेट्रो स्टेशनों के विकास के ताजा आंकड़ों को देखें तो सिप्ज स्टेशन का काम ६७ फीसदी, एमआईडीसी स्टेशन ७८ फीसदी, मरोल नाका- ६९, छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट टी-२- ५६ फीसदी, सहार रोड- ५८ फीसदी, छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट टी-१ – सांताक्रुज स्टेशन ६३ फीसदी, विद्यानगरी- ५८ फीसदी, बीकेसी- ४८ फीसदी, धारावी स्टेशन- ४८ फीसदी, शीतलादेवी- २१ फीसदी, दादर- ३७ फीसदी, सिद्धिविनायक- ६७ फीसदी, वरली-३८ फीसदी, आचार्य अत्रे- १४ फीसदी, साइंस म्यूजियम- ५७ फीसदी, महालक्ष्मी- २८ फीसदी, मुंबई सेंट्रल- ४० फीसदी, ग्रांट रोड- १८ फीसदी, गिरगांव- कालबादेवी ७.५ फीसदी, सीएसएमटी- ६४ फीसदी, हुतात्मा चौक- ५६ फीसदी, चर्चगेट- ५५ फीसदी, विधान भवन- ७३ फीसदी, कफ परेड- ५७ फीसदी स्टेशन का काम पूरा हो चुका है।