" /> महाराष्ट्र में स्टूडेंट को एसएससी के रद्द पेपर की मार्किंग स्कीम का इंतजार

महाराष्ट्र में स्टूडेंट को एसएससी के रद्द पेपर की मार्किंग स्कीम का इंतजार

महाराष्ट्र स्टेट बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एंड हायर सेकेंडरी एजुकेशन (एमएसबीएसएचएसई) के एसएससी के स्टूडेंट्स उस पेपर की मार्किंग स्कीम के एलान का इंतजार कर रहे हैं। राज्य के शिक्षा बोर्ड ने दो सप्ताह पहले इस एग्जाम को रद्द कर दिया था। 12 अप्रैल को शिक्षा विभाग ने एसएससी का ज्योग्राफी का पेपर रद्द करने का फैसला किया था। यह पेपर 23 मार्च को होनेवाला था लेकिन कोरोना वायरस के चलते हुए लॉकडाउन की वजह से नहीं हो सका। बोर्ड के अधिकारियों ने कहा था कि जो पेपर रद्द हुए हैं, उनकी मार्किंग के लिए एक फॉर्मूला तय किया जाएगा।
बोर्ड ने इस संबंध में कमिटी का भी गठन किया था लेकिन अभी तक कोई फैसला नहीं लिया गया है। राज्य बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा कि पेपर कैंसल का ऐसा इश्यू पहली बार आया है। हमें हर विकल्प पर विचार करने के लिए समय चाहिए। हम सरकार से भी सलाह-मशविरा करेंगे। मार्किंग स्कीम से जुड़ी अनिश्चितताओं को लेकर एसएससी स्टूडेंट्स और उनके पेरेंट्स काफी टेंशन में हैं। एक छात्र के पेरेंट्स ने कहा कि बच्चे पूरे साल तैयारी करते हैं और फिर पेपर आखिर में कैंसल हो जाता है। बोर्ड की तरफ से अभी तक इस पर कोई मार्किंग स्कीम या स्पष्टीकरण नहीं आया है। कई तरह की अफवाहें फैल रही हैं, जो चिंता बढ़ा रही हैं। इस बार करीब 17 लाख स्टूडेंट्स ने एसएससी का एग्जाम दिया है। बोर्ड कमेटी का अब तक सरकार के पास कोई भी फैसला नहीं आया है। रिपोर्ट आने के बाद सरकार उचित कदम उठाएगी, जिससे विद्यार्थियों को कोई तकलीफ न हो, इस संदर्भ में सावधानी बरती जाएगी। ये बात शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने बताई।