" /> कोरोना का खौफ : घर में ही मनाई गई ‘वट पूर्णिमा’

कोरोना का खौफ : घर में ही मनाई गई ‘वट पूर्णिमा’

पति की लंबी उम्र की कामना से किया जानेवाला वट पूर्णिमा का कठीन व्रत हिंदू धर्म की महिलाएं हर साल पूरी श्रद्धा के साथ करती हैं। लेकिन कोरोना का असर इस बार व्रती महिलाओं पर साफ देखने को मिला। वट पूर्णिमा के शुभ अवसर पर कोरोना को ध्यान में रखते हुए तमाम सुहागिन महिलाओं ने अपने अपने घरों में ही यह पावन पर्व मनाया।

नई मुंबई शहर के रहिवासी इलाके में महिलाएं अपने घर के सामने वट वृक्ष की टहनियों को सजा धजा कर बड़े गमले में तैयार कर पूजा अर्चना करती नजर आई। ऐरोली की रहने वाले एक गृहणी नीलम सुहास मोहिते ने बताया कि आज के दिन सौभाग्यवती महिलाएं अपने पति की लंबी आयु की कामना कर सात जन्मों तक पति पत्नी के पवित्र रिश्ते को कायम रखने के लिए वट वृक्ष से आराधना करती है। गौरतलब हो कि कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर नई मुंबई पुलिस ने महिलाओं को घर से बाहर न निकलने की हिदायत देते हुए अपने अपने घरों में ही पूजा पाठ करने की चेतावनी दी थी।