" /> नया वॉचमेन निकला घर का भेदी : दो दिन में करता था घरों में चोरी

नया वॉचमेन निकला घर का भेदी : दो दिन में करता था घरों में चोरी

पूर्व बैंककर्मी के घर में चोरी का मामला
लगभग महीने भर पहले पूर्व बैंककर्मी के घर में हुई लाखों रुपए के गहनों की चोरी की गुत्थि विलेपार्ले पुलिस ने सुलझा ली है। इस मामले में इमारत का नवनियुक्त वॉचमेन ही घर का भेदी निकला। नौकरी पर लगने के महज दो दिन बाद उसने पूर्व बैंककर्मी के घर को उस समय निशाना बनाया था, जब घर के लोग कहीं बाहर गए थे। उक्त वह एक पेशेवर चोर है, इससे पहले इसी तरह वह 8 वारदातों को अंजाम दे चुका था।
बता दें कि विलेपार्ले-पूर्व के सुभाष रोड स्थित सत्यम को-ओपरेटिव हाउसिंग सोसायटी में रहनेवाले एक सेवानिवृत बैंक मैनेजर के घर में 15 फरवरी को चोरी हुई थी। घर की कुंडी तोड़कर अंदर घुसे चोरों नें आल्मारी का ताला तोड़ कर लगभग 18 लाख रुपए के आभूषणों पर हाथ साफ कर दिया था। डीसीपी मन्जुनाथ सिंगे व वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक अलका मांडवे के मार्गदर्शन तथा पीआई राजेंद्र काणे के नेतृत्व में एपीआई किशोर डोइजड की टीम मामले की जांच कर रही थी। जांच में पता चला कि इमारत का वॉचमेन विकास अनिल सिंह उर्फ राजा वारदात के बाद से फरार था। सोसायटी ने महज दो दिन पहले एक सिक्युरिटी एजेन्सी के मार्फत काम पर रखा था। विलेपार्ले पुलिस विकास का सुराग ढूंढने का हर संभव प्रयास कर रही थी। इसी दौरान टीम में शामिल राजेश पडवल को राजा के यूपी के मऊ जिला स्थित अपने घर में होने की पुख्ता सूचना मिल गई। विलेपार्ले पुलिस विकास के गांव पहुंची और वहां उसे उसके साथी अंगद झिनकू कश्यप के साथ दबोच लिया। पुलिस ने विकास के घर से चोरी का पूरा माल भी बरामद कर लिया। विकास ने बताया कि वह नई जगह पर वॉचमेन की नौकरी करता था और अगले दो-चार दिनों में इमारत के बंद घरों में अपने साथी के साथ चोरी करके भाग जाता था। वह इसी तरह करीब 8 वारदातों को अंजाम दे चुका था। अब पुलिस उस सिक्युरिटी एजेन्सी की कुंडली भी खन्गाल रही है, जिसने विकास को नौकरी पर रखा था।