बारिश गायब, हो सकती है पानी कटौती

गत वर्ष बारिश में कमी और इस साल मॉनसून का देरी से आगमन एक बार दोबारा मुंबई में पानी की कटौती को अंजाम दे सकता है। मुंबई को पानी सप्लाई करनेवाले तालाबों में मात्र ६ प्रतिशत पानी बाकी बचा है, जो कि जुलाई महीने के अंत तक चलने के लिए पर्याप्त नहीं है इसलिए मनपा को एक बार फिर पानी कटौती करनी पड़ सकती है।
बता दें कि मुंबई के सात तालाबों में बचा पानी पिछले तीन सालों में सबसे कम है। मुंबई को जहां जुलाई के अंत तक १.७ लाख मिलियन लीटर पानी की आवश्यकता है, वहीं अब तालाबों में मात्र ८०,००० मिलियन लीटर पानी बचा है। ऐसे में यदि जल्दी बारिश शुरू नहीं होती है, तो मनपा को एक बार फिर पानी की कटौती करनी पड़ सकती है। साल २०१७ में इस समय तक तालाबों में १८ प्रतिशत पानी मौजूद था, वहीं साल २०१८ में १४.२४ प्रतिशत पानी मौजूद था। इस साल मात्र ६ प्रतिशत पानी तालाबों में बचा है, जो कि चिंता का विषय है। मनपा मुंबई को प्रतिदिन ३४२० मिलियन लीटर पानी सप्लाई करती है। नाम न छापने की शर्त पर मनपा के जल विभाग के एक अभियंता ने बताया कि अपर वैतरणा में पानी का स्टॉक शून्य तक पहुंच गया है, वहीं भातसा में ०.९ प्रतिशत है। ऐसे में मुंबईकर और मनपा दोनों ही बारिश के इंतजार में हैं।