" /> हमने लॉकडाउन के बारे में बहुत बात की : अब बात करते हैं, अनलॉकिंग विषय की…

हमने लॉकडाउन के बारे में बहुत बात की : अब बात करते हैं, अनलॉकिंग विषय की…

* “मिशन बिगिन अगेन” में महाराष्ट्र ने ली छलांग
* प्रधानमंत्री के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री ने प्रभावी तरीके से की प्रस्तुति *
* स्वास्थ्य सुविधाओं, निवेश, शिक्षा पर दी जानकारी *

आपने इतने दिनों तक लॉकडाउन के बारे में बात की थी लेकिन आज मैं आपसे अनलॉकिंग विषय पर बात करना चाहता हूं। महाराष्ट्र “मिशन बिगीन अगेन” से छलांग लेना चाहता है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बहुत कम समय में राज्य द्वारा उठाए गए कदमों पर एक प्रभावशाली प्रस्तुति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कल वीडियो कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री ने कुछ दवा उपचारों की पद्धति को तुरंत मंजूरी देने की मांग की, जिसमें किसानों को राष्ट्रीयकृत बैंकों से तत्काल ऋण लेने और देशभर में परीक्षाओं के लिए एक सूत्र हो, ऐसी मांग मुख्यमंत्री ने की।
पिछले ढाई महीनों में महाराष्ट्र ने बड़ी संख्या में स्वास्थ्य सुविधाओं का निर्माण किया है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि एक तरफ जहां कोरोना से लड़ाई जारी है, वहीं हमने बड़े निवेशकों के साथ समझौतों पर हस्ताक्षर करके आर्थिक चक्र को गति देने का काम शुरू कर दिया है।
वीडियो कॉन्फ्रेंस की शुरुआत में प्रधानमंत्री ने लद्दाख में घटी घटना के बारे में जानकारी दी और फिर सभी ने दो मिनट का मौन रखा और शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर बोलते हुए मुख्यमंत्री ने विश्वास व्यक्त किया कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में सीमा के बाहर के संकट से प्रभावी ढंग से मुकाबला किया जाएगा।
*उद्योगों को प्रोत्साहन देने की शुरूआत *
वैश्विक महामारी व कोरोना संकट की शुरुआत के बावजूद हमने हाल ही में 12 प्रमुख कंपनियों के साथ 16,000 करोड़ रुपए के निवेश समझौतों पर हस्ताक्षर किए, इससे 14,000 लोगों को रोजगार भी मिलेगा। इन उद्योगों में चीन, अमेरिका, दक्षिण कोरिया, सिंगापुर आदि देशों के उद्योगों का समावेश है, ऐसा मुख्यमंत्री ने बताया।
चेस दी वायरस को प्राधान्य  
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में महाराष्ट्र ने राज्यभर में लगभग 3 लाख बेड और फील्ड अस्पताल बनाए हैं। उन्होंने नेस्को में बीकेसी मैदान और कोवि़ड अस्पताल में दूसरे चरण के अस्पताल के प्रधानमंत्री को तस्वीरें भी दिखाईं, जिनका आज उद्घाटन किया गया।
चेस दी वायरस को पूरी प्राथमिकता दी गई है और व्यक्तियों के परीक्षण और शोध में वृद्धि की गई है। हमने धारावी जैसे क्षेत्रों में भी संक्रमण को रोक दिया है, ऐसा मुख्यमंत्री ने मोदी को बताया।
वेंटिलेटर की आवश्यकता
राज्य के पास पीपीई किट्स, एन-९५ मास्क उपलब्ध हैं। केवल विशेषकर ग्रामीण भागों के लिए वेंटिलेटर की आवश्यकता है, ऐसा मुख्यमंत्री ने कहा। इसी प्रकार की उपचार पद्धति को मान्यता देने, परीक्षा के संबंध में निर्णय लेने, राज्य द्वारा तैयार कोविड अस्पतालों की विस्तृत जानकारी दी। इसके अलावा साढ़े पांच लाख उत्तर भारतीय मजदूरों को निवास, भोजन, मेडिकल सुविधा, 17 लाख मजदूरों को एसटी से स्टेशन व सीमा तक भेजने की जानकारी मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बातचीत के दौरान दी। इसके अलावा उत्तर भारतीय 12 लाख, 3 हजार, 139 मजदूरों को 834 स्टेशनों से उनके गृह राज्य भेजा गया, इन मजदूरों की टिकट के लिए 97.69 करोड़ रुपए मुख्यमंत्री सहायता निधि से दिए गए हैं।
वंदे भारत अभियान के तहत अब तक 12 हजार, 974 नागरिक विदेश से भारत वापस आए हैं।
उद्योग शुरू : 
६०  हजार छोटे-बड़े उद्योग शुरू हैं। १५ लाख लाख मजदूर काम पर आ रहे हैं। मुख्यमंत्री ने गरीबों में अन्न वितरण, रोजगार गारंटी योजना के तहत चल रहे कामों आदि के बारे में विस्तृत जानकारी प्रधानमंत्री को दी।