" /> काहे का टेंशन!

काहे का टेंशन!

राहुल द्रविड़ को वीरेंद्र सहवाग के साथ बल्लेबाजी करते हुए बहुत मुश्किल होती थी, क्योंकि मैच में तनावपूर्ण स्थिति होने के दौरान जब मैदान के अंदर जाओ तो वीरू सीटियां बजा रहे होते थे। यूट्यूबर विक्रम साठिया ने अपने शो में वीरेंद्र सहवाग से इस बात की सच्चाई के बारे में पूछा था। तब वीरू ने कहा था कि हां, सही बात है। शो के दौरान ही वीरू ने ग्रेग चैपल के साथ गर्मा-गर्मी होने वाला किस्सा भी सुनाया था। सहवाग ने बताया था कि बात इतनी बढ़ गई थी कि राहुल द्रविड़ को बीच-बचाव करना पड़ा था।हालांकि, सहवाग ने यह भी स्वीकार किया कि ग्रेग चैपल की क्रिकेटिंग नॉलेज का कोई जोड़ नहीं है। सहवाग ने कहा, ‘ग्रेग चैपल की क्रिकेटिंग नॉलेज की अगर हम बात करें तो सुपर्ब। लेकिन क्या है कि जो मैन मैनेजमेंट की बात करें तो वह बिल्कुल जीरो।’ इस पर विक्रम साठिया ने टोका, ‘ष्ठ और सहवाग मैनेजमेंट टोटल जीरो।’ वीरू ने कहा, ‘सहवाग मैनेजमेंट टोटल फ्लॉप। क्योंकि कोच को यह पता होना चाहिए कि उसके कौन से प्लेयर हैं, जो उसके लिए बेस्ट परफॉर्मेंस निकाल रहे हैं, दे रहे हैं मुकाबलों में और उनको उसको कैसे हैंडल करना है। उनको उसको टाइम देना है। उनका स्पेस देना है।’