मुख्यपृष्ठस्तंभआउट ऑफ पैवेलियन :हिंदुस्थानी टीम की बनी थॉमस हिस्ट्री

आउट ऑफ पैवेलियन :हिंदुस्थानी टीम की बनी थॉमस हिस्ट्री

अमिताभ श्रीवास्तव

न न क्रिकेट की बात नहीं है। अब हिंदुस्थानी टीम कोई क्रिकेट की बपौती थो़ड़े है। अन्य खेलों में भी हिंदुस्थानी टीम बनती है। बहरहाल, बैडमिंटन की टीम ने पहली बार थॉमस हिस्ट्री रची है। जी हां, हिंदुस्थानी टीम ने डेनमार्क को हराकर फाइनल में जब प्रवेश किया तो इतिहास बन गया। इस इतिहास में एचएस प्रणय ने निर्णायक पांचवें मैच में गजब का जज्बा दिखाया, जिससे हिंदुस्थानी पुरुष बैडमिंटन टीम ने यहां रोमांचक सेमीफाइनल में डेनमार्क को ३-२ से हराकर थॉमस कप के फाइनल में पहुंचकर इतिहास रच दिया। हिंदुस्थानी टीम १९७९ के बाद से कभी भी सेमीफाइनल से आगे नहीं बढ़ सकी थी। इस बार उसने जुझारू जज्बा दिखाते हुए २०१६ के चैंपियन डेनमार्क को हरा दिया। २-२ की बराबरी के बाद एचएस प्रणय ने टीम को इतिहास रचने में मदद की। दुनिया के १३वें नंबर के खिलाड़ी रास्मस गेमके के खिलाफ प्रणय को कोर्ट पर फिसलने के कारण टखने में चोट भी लगी थी, पर शानदार जीत दर्ज की।
वो काली बिल्ली
वो मुंबइया बिल्ली थी। काली बिल्ली, जिससे परेशान हो गए फाफ डु प्लेसिस। वाकया यूं तो मजेदार था, मगर उस बिल्ली का ही शायद कोप था कि आरसीबी को हार का मुंह देखना पड़ा। दरअसल पंजाब से मिले २१० रन के लक्ष्य का पीछा करने जब बंगलुरु की टीम मैदान पर उतरी तो आरसीबी कप्तान फाफ डु प्लेसिस मैच के दौरान हुई एक घटना से इतना परेशान दिखे कि उन्होंने मैच रोक दिया। अंपायर, दर्शक और कमेंटेटर सब हैरान थे कि आखिरकार हुआ क्या है? जांच की गई तो पता चला कि साइट स्क्रीन के पास एक काली बिल्ली बैठी थी। डुप्लेसिस बोल रहे थे कि यह मेरा ध्यान भंग कर रही है। इसे हटाएं। अंपायर ने जब स्थिति देखी तो उन्होंने फौरन ग्राउंड्समैन से उसे हटाने के लिए कहा। कॉमेंट्री बॉक्स में बैठे दिग्गज भी इस पर मजे लेते देखे गए। एक ने कहा कि क्या डुप्लेसिस अंधविश्वासी तो नहीं? तो दूसरे ने कहा- यह यकीनन हो सकता है कि काली साइट स्क्रीन पर अगर काली बिल्ली मूवमेंट करेगी तो बल्लेबाज का ध्यान भटकेगा। डुप्लेसिस रत्ती भर भी रिस्क नहीं लेना चाहते हैं। अगर कोई भी बल्लेबाज के सामने ऐसी स्थिति आएगी तो वह ऐसा ही करेगा।

चहल के सिर से उतरी टोपी
अब तक यजुवेंद्र चहल के सिर पर सजी थी वो आईपीएल की विशिष्ट टोपी, जो पर्पल रंग की थी। अब उतर गई है और वानिंदु हसरंगा के सिर पर सज गई है। जी हां, आरसीबी के गेंदबाज वानिंदु हसरंगा ने पर्पल वैâप पर कब्जा जमा लिया है। हसरंगा ने ये कमाल बंगलुरु और पंजाब के बीच खेले गए मुकाबले में किया। हसरंगा ने इस मैच में दो विकेट झटके। इसके साथ ही अभी तक इस सीजन में उनके २३ विकेट हो गए। हसरंगा ने राजपक्षे और जितेश शर्मा का विकेट लिया। इससे पहले इस सीजन में राजस्थान रॉयल्स के गेंदबाज यजुवेंद्र चहल विकेट लेने के मामले में टॉप पर बरकरार थे। पर्पल वैâप इन्हीं के पास थी। चहल के खाते में २३ विकेट थे, मगर इस मैच में हसरंगा ने दो विकेट चटकाकर २३ विकेट की न केवल बराबरी की बल्कि अच्छा औसत भी रखा और चहल से पर्पल कैप  छीन ली।

बदकिस्मती भी, झटका भी
ये बदकिस्मती नहीं तो और क्या है? ये हॉकी हिंदुस्थानी टीम को करारा झटका नहीं तो और क्या है? अब देखिए न संन्यास से लौटे, कप्तान बनाए गए मगर चोटिल हो गए और फिर से बाहर हो गए। एक बेहतरीन खिलाड़ी और कप्तान के बाहर हो जाने से दोयम दर्जे की बनी टीम पर तो जैसे पहाड़ टूटकर गिर गया हो। बड़ा झटका है। कप्तान रुपिंदर पाल सिंह कलाई की चोट के कारण आगामी एशिया कप हॉकी टूर्नामेंट से बाहर हो गए। हॉकी इंडिया के अनुसार शीर्ष ड्रैग फ्लिकर रुपिंदर ट्रेनिंग सत्र के दौरान कलाई में चोट लगा बैठे। उपकप्तान बनाए गए बीरेंद्र लकड़ा अब टीम की अगुआई करेंगे, जबकि स्ट्राइकर एसवी सुनील २० सदस्यीय टीम के उपकप्तान होंगे। संन्यास से वापसी करने वाले रुपिंदर की जगह नीलम संजीम जेस लेंगे। एशिया कप २३ मई से जकार्ता में शुरू होगा। हिंदुस्थान टूर्नामेंट का डिफेंडिंग चैंपियन है और उसे पहला मैच ही पाकिस्तान से खेलना है।

अन्य समाचार