" /> एक पैर से कश्मीर से कन्याकुमारी तक… ४३ दिनों में किया सफर

एक पैर से कश्मीर से कन्याकुमारी तक… ४३ दिनों में किया सफर

मध्य प्रदेश की २५ वर्षीय बेटी तान्या डागा ने २ साल पहले सड़क दुर्घटना में अपना एक पैर गंवाने के बावजूद हिम्मत नहीं हारी। उसने एक पैर से साइकिल चलाकर कश्मीर से कन्याकुमारी तक का सफर तय कर डाला। देश के दो लड़कों के साथ २,८०० किमी की दूरी तान्‍या ने महज ४३ दिनों में पूरी कर मिसाल कायम की। इस दौरान तान्या के पिता का निधन हो गया और उन्हें एक सप्ताह के लिए सफर को छोड़कर वापस आना पड़ा था लेकिन हिम्मत नहीं हारी और जल्द ही दोबारा अपनी यात्रा शुरू की और यात्रा पूरी कर मध्य प्रदेश लौटीं। इतने कम समय में यह कारनामा करने वाली वह देश की पहली महिला पैरा साइक्लिस्ट बनीं। तान्या कहती हैं कि पिता कहते थे कि अगर कोई काम करने का ठान लिया है तो उसे पूरा करके ही छोड़ो. इसी बात ने मेरी हिम्मत बढ़ाई और मुझे अपने लक्ष्य तक पहुंचने में मदद मिली।