मुख्यपृष्ठसमाचारएमएलसी चुनाव में भाजपा की दबंगई! ....भाजपा ने कुचल दिया लोकतंत्र

एमएलसी चुनाव में भाजपा की दबंगई! ….भाजपा ने कुचल दिया लोकतंत्र

• सपा अध्यक्ष ने लगाया आरोप
मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ । यूपी में भाजपा की योगी सरकार में एमएलसी चुनाव में भाजपा की दबंगई खुलकर दिखाई दी। भाजपाइयों ने पुलिस के सामने ही फर्जी मतदान करके लोकतंत्र को दिया। भाजपा सरकार और प्रशासन की मिलीभगत से विधान परिषद चुनाव में लोकतांत्रिक व्यवस्थाएं पूरी तरह ध्वस्त हो गई। भाजपाई दबंग खुलेआम फर्जी मतदान कराते रहे जो स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव मखौल बन गया है। भाजपा ने लोकतंत्र को सत्ता के डबल इंजन से कुचलने का काम किया। भाजपा ने विधान परिषद में जबरन बहुमत पाने के लिए सभी नैतिक एवं लोकतांत्रिक मान्यताओं को ताक पर रख दिया। सपा अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि विधान परिषद चुनाव में डबल इंजन की सरकार ने सत्ता के दुरुपयोग के सभी रिकार्ड तोड़ दिए हैं। बीडीसी, प्रधान, जिला पंचायत सदस्यों को मतदान करने से जगह-जगह रोका गया। सत्ता संरक्षित भाजपा के दबंग लोगों एवं सरकारी तंत्र द्वारा विभिन्न मतदान केंद्रों पर बूथ वैâप्चरिंग करने, भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में वोट देने के लिए मतदाताओं को धमकाने जैसी गंभीर शिकायतें मिली है।
मतदान केंदों पर भाजपा की तानाशाही
यूपी विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि मतदान केंदों पर भाजपा की तानाशाही देखी गई। सपा लोकतंत्र में भरोसा करती है। एमएलसी के इन चुनावों में पार्टी प्रत्याशियों के पक्ष में मतदान के लिए सभी मतदाताओं के हम आभारी हैं। सपा की भाजपा के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी। जानकारी के अनुसार सुलतानपुर के धनपतगंज में भाजपा के पोलिंग एजेंट मतदान केंद्र में बैठकर जबरन वोट डालने का दबाव बनाते रहे। वहीं अमेठी में भी गड़बड़ी होने पर प्रशासन मूकदर्शक बना रहा।
अमरोहा में भी बनाया दबाव
अमरोहा के मतदान केंद्र पर भाजपा के लोग फर्जी मतदान कराते रहे। इटावा, मोहम्मदाबाद के भाजपा के पूर्व विधायक नरेंद्र सिंह यादव, नागेन्द्र सिंह राठौर लगभग ५०० लोगों को लेकर मतदान केंद्र के बाहर बैठकर भाजपा प्रत्याशी के लिए वोट देने का दबाव बनाते दिखाई दिए। गुरसहायगंज के पास लगे सपा के वैंâप पर भाजपा के दबंगों ने हमला कर कार्यकर्ताओं से मारपीट की। पुलिस उल्टे सपा के नेताओं को ही पुलिस स्टेशन ले गई।
चुनाव निरस्त करने की मांग
संत कबीर नगर के हैंसर बाजार मतदान केंद्र पर कब्जा कर मतदाताओं को डरा धमका कर भाजपा के पक्ष में जबरदस्ती मतदान कराया गया और मतदाताओं को खुला वोट देने के लिए भी मजबूर किया गया। मतदान केंद्र पर पीठासीन अधिकारी ने किस परिस्थिति के तहत भाजपा के २ पोलिंग एजेंट बनाए यह जांच का विषय है। बस्ती सिद्धार्थनगर निर्वाचन क्षेत्र के प्रत्याशी संतोष यादव सनी ने व्यापक पैमाने पर हुई धांधली की वजह से चुनाव निरस्त किए जाने की मांग की है।

अन्य समाचार