" /> कश्मीर में निशाने पर हैं भाजपा नेता, चार सालों में तीसरे भाजपा नेता की हत्या

कश्मीर में निशाने पर हैं भाजपा नेता, चार सालों में तीसरे भाजपा नेता की हत्या

कश्मीर में पिछले चार सालों में किसी वरिष्ठ भाजपा नेता की हत्या की यह तीसरी वारदात है। इससे पूर्व 2 नवंबर, 2017 को शोपियां में भाजपा की युवा इकाई के जिला प्रधान गौहर बट को आतंकियों ने अगवा कर लिया था। अगले दिन बट की सिर कटी लाश मिली थी। बीते साल 4 मई को अनंतनाग के नौगाम वेरीनाग में आतंकियों ने भाजपा के बुजुर्ग नेता गुल मोहम्मद मीर अटल की उनके घर के बाहर हत्या कर दी थी।

बीते जून महीने की शुरुआत में दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों ने कश्मीरी पंडित सरपंच अजय पंडिता की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस वारदात की जिम्मेदारी कश्मीर में आतंक का नया पर्याय बने जिहादी संगठन ‘द रजिस्टेंस फ्रंट’ (टीआरएफ) ने ली थी। बीते 17 वर्षों में वादी में किसी कश्मीरी पंडित की आतंकियों द्वारा हत्या की यह पहली वारदात थी। सरपंच कांग्रेस पार्टी से जुड़े थे। अजय पंडिता की हत्या की स्थानीय नेताओं ने कड़ी निंदा की थी।

दरअसल, हाल के दिनों में सुरक्षाबलों की कार्रवाई से बौखलाए आतंकी जन प्रतिनिधियों को निशाना बनाने लगे हैं। वहीं सुरक्षाबलों ने आतंकियों के सफाए के लिए टॉप-12 आतंकियों की हिट लिस्ट बनाई है। मौजूदा वक्त में वादी में करीब 170 आतंकी सक्रिय हैं। सुरक्षाबलों के ऑपरेशनों और घटते जन समर्थन से हताश आतंकी अब कश्मीर के लोगों को धमकियां दे रहे हैं कि वे गैर कश्मीरियों को मकान और जमीन न बेचें। आतंकी संगठन तहरीक-उल-मुजाहिदीन ने बीते दिनों कश्मीर में जगह-जगह धमकी भरे पोस्टर लगाए थे।