" /> कैसा सिला दिया तूने…

कैसा सिला दिया तूने…

विवाद न हो तो बात बनती नहीं है। पता नहीं एक पद हासिल करने और देने-लेने के मध्य बेईमान क्यों हो जाते हैं लोग? या ईमानदारी क्यों नहीं वापरते? अब देखिए न, अभी दो दिन पहले ही बीसीसीआई की सालाना बैठक हुई थी और चेतन शर्मा को टीम इंडिया का मुख्य चयनकर्ता और एबे कुरुविला सहित अन्य खिलाड़ियों को चयन समिति का सदस्य नियुक्त किया गया था। लेकिन अब एबे कुरुविला को लेकर विवाद हो गया है। टीम के पूर्व तेज गेंदबाज कुरुविला पर हितों के टकराव का आरोप लगा है। उनके खिलाफ मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ के पूर्व सदस्य संजीव गुप्ता ने शिकायत दर्ज कराई है। गुप्ता ने आरोप लगाया कि कुरुविला का हितों का टकराव उनकी दो भूमिकाओं के कारण है, एक वह डीवाई पाटिल अकादमी के खेल निदेशक है और साथ ही राष्ट्रीय चयनकर्ता भी बनाए गए हैं। यहाँ तक कि स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसजीएफआई) के अध्यक्ष सुशील कुमार ने कहा कि मुझे एसजीएफआई में बड़ी गड़बड़ी का पता चला है। मैंने सेक्रेटरी के खिलाफ आईपीसी की धारा ४२०, ४६८, ४७१, १२०बी के तहत एफआईआर दर्ज़ कराई है। सेक्रेटरी अब चुनाव कराकर बचकर निकलना चाहता है। मैं अब इस बात की तह तक जाऊंगा।