मुख्यपृष्ठखबरेंचेर्नोबिल न्यूक्लियर प्लांट में सिर्फ दो दिन का ईंधन, रेडिएशन का खतरा

चेर्नोबिल न्यूक्लियर प्लांट में सिर्फ दो दिन का ईंधन, रेडिएशन का खतरा

यूक्रेन के बंद पड़े चेर्नोबिल परमाणु संयंत्र में बिजली आपूर्ति करने वाला ग्रिड क्षतिग्रस्त हो गया है और आपातकालीन जेनरेटर के जरिए बिजली की आपूर्ति की गई है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। ग्रिड ऑपरेटर ने कहा है कि सिस्टम की कूलिंग के लिए डीजल जनरेटर में 48 घंटे के लिए ही ईंधन बचा है। यह इसलिए भी खतरनाक है क्योंकि अगर जल्द ही बिजली आपूर्ति बहाल नहीं हुई तो प्लांट से रेडिएशन का खतरा है। उधर, यूक्रेन ने रूसी सेना से सीजफायर की मांग की है।

चेर्नोबिल परमाणु संयंत्र में ही दुनिया की सबसे भीषण परमाणु त्रासदी हुई थी। सरकारी समाचार एजेंसी ने कहा है कि बिजली गुल होने से परमाणु संयंत्र की कूलिंग सामग्री को खतरा हो सकता है। चेर्नोबिल को बिजली आपूर्ति करने वाली लाइन के नुकसान का कारण अभी स्पष्ट नहीं है। पिछले सप्ताह से यह स्थल रूसी सैनिकों के नियंत्रण में है।

यूक्रेन के ग्रिड ऑपरेटर उक्रेनेरहो ने कहा है कि राष्ट्रीय परमाणु नियामक के अनुसार चेर्नोबिल के सभी संयंत्रों में बिजली आपूर्ति ठप हो गई और डीजल जनरेटर में 48 घंटे के लिए ईंधन है। नियामक ने कहा कि बिजली के बिना ”परमाणु और विकिरण सुरक्षा के मापदंडों” को नियंत्रित नहीं किया जा सकता है।

यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने कहा कि बिजली की आपूर्ति करने वाला ग्रिड क्षतिग्रस्त हो गया है और मरम्मत की अनुमति देने के लिए संघर्ष विराम का आह्वान किया।

अन्य समाचार