जय हनुमान

संकट मोचन नाम तुम्हारा,
हर लो संकट जो भी हो हमारा।
पवन सुत हनुमान हो प्यारे,
अंजनी मां का राज दुलारा।।
राम नाम अंकित है तन पर,
बल बुद्धि की खान है जिन पर।
राम काज करने को आतुर,
वीर हनुमान का नाम है मन पर।।
जय मारुति नंदन हनुमान,
देते तुम अनंत असंख्य ज्ञान।
राम जी के परम भक्त तुम जो,
करते सदा सबका कल्याण।।
-गायत्री बंका, मुंबई

अन्य समाचार