मुख्यपृष्ठस्तंभझांकी : मामा राज की करुणकथा

झांकी : मामा राज की करुणकथा

अजय भट्टाचार्य

कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मूत्र कांड के बाद चर्चा में आए सीधी में थे, जहां चुनावी सभा में मध्य प्रदेश के मामा राज का गुणगान कर रहे थे। इसी सीधी जिला मुख्यालय से ५ किलोमीटर दूर ठाकुर देवा गांव में कुएं में डूब जाने से मरी एक आदिवासी युवती के शव को पोस्टमार्टम के लिए सेमरिया लाया गया था। यहां से पोस्टमार्टम के बाद मृतक का शव गांव ले जाने के लिए शव वाहन नहीं मिला तो परिवारजनों को बांस बल्ली के सहारे ७ किलोमीटर दूर पैदल जाना पड़ा। बांस बल्ली के सहारे शव को पैदल लेकर जाते देख भौचक्के लोग सिस्टम को कोसते नजर आए। जिले भर में आधा दर्जन से अधिक शव वाहन है, लेकिन जरूरत पड़ने पर गरीबों को इसकी सुविधा नहीं मिल पाती। परिवार जनों की माने तो शव वाहन के लिए प्रशासनिक महकमे से मांग की गई थी, लेकिन जब किसी ने एक नहीं सुनी तो परिवारजनों को अंत में थक-हारकर बांस बल्ली के सहारे शव को लेकर आना-जाना पड़ा। इस घटना के बाद आदिवासी कोल समाज के लोगों में आक्रोश व्याप्त है और सरकारी सिस्टम को जमकर कोस रहे हैं।

सौ करोड़ का वीडियो
मध्य प्रदेश में रविवार को सोशल मीडिया पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के बेटे देवेंद्र प्रताप सिंह तोमर उर्फ रामू से जुड़ा एक वीडियो और ऑडियो वायरल हुआ। इसमें देवेंद्र लखनऊ के एक विचौलिये के जरिए माइनिंग कारोबारियों से करोड़ों रुपए के लेने के लिए मल्टीपल बैंक अकाउंट के इंतजाम की बात करते दिखाई और सुनाई दे रहे हैं। बिचौलिया उन्हें हर लेन-देन के लिए अलग-अलग बैंक खातों के नंबर मांग रहा है। वीडियो में त्यागी उपनाम वाले रिटायर्ड कमिश्नर के माध्यम से किसी पार्टी के १०० करोड़ देने को तैयार हो जाने की बात के साथ किसी हरप्रीत गिल और डीएचएल नाम की फर्म के संचालक से पैसे लेने की बात हो रही है। विचौलिया देवेंद्र को कभी गुरुजी, कभी भैय्या कहकर संबोधित कर रहा है। रोहित भैय्या नाम के किसी शख्स को पैसे भेजने की बात आती है। इसमें राजस्थान, पंजाब की एक पार्टी से ३९ करोड़ की डील फिक्स होने की बात हो रही है, जिसमें १८ करोड़ आ जाने और बाद में २१ करोड़ और देने की बात होती है। यह पैसा मोहाली के एक लैंड डीलर के जरिए आएगा, यह बताया जा रहा है। बिचौलिया एक पार्सल दिल्ली एयरपोर्ट पर देवेंद्र की पत्नी के नाम पहुंचने की जानकारी देता है, जिसमें डिलिवरी कंपनी द्वारा वीके कृष्णा मेनन मार्ग का एड्रेसप्रूफ और पासपोर्ट की जानकारी मांगे जाने की बात होती है। जवाब में देवेंद्र को बोलते हुए बताया है कि पासपोर्ट की जानकारी भेज दी है, एड्रेस प्रूफ वीके कृष्णा मेनन मार्ग के बजाय उनके खुद के घर का है। तोमर २०१४ से २०१९ के बीच केंद्रीय इस्पात और खनन मंत्री रह चुके हैं।

पीपल सूख गया
राजस्थान में भाजपा की टिकट पर लगातार छह बार विधानसभा चुनाव जीतनेवाले विपक्षी दल नेता राजेंद्र राठौड़ को भाजपा ने तारानगर विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया है। राजेंद्र राठौड़ तारानगर विधानसभा सीट से २००८ में भी विधायक चुने गए थे, लेकिन उसके बाद वह चुरू चले आए और चुरू विधानसभा सीट से चुनाव लड़ते रहे। राजेंद्र राठौड़ राजस्थान की राजनीति के बड़े नेता हैं और वह एक वकील भी हैं, इसलिए वे विधानसभा में हमेशा तथ्यों के साथ सरकार को कटघ़रे में ख़ड़ा करते रहे हैं। १९९३ से अभी तक चुनाव न हारनेवाले राठौड़ इस बार चुरू से अपनी जीत संदिग्ध मान रहे थे। लिहाजा पार्टी ने उन्हें तारानगर से उतार दिया। तारानगर में एक पीपल का पेड़ है जो सूख चुका है। इस पीपल के पेड़ का राठौड़ से रिश्ता यह है कि २००८ में इसी पीपल के पेड़ की छांव में खड़े होकर राठौड़ ने पीपल की कसम खाकर क्षेत्र के विकास को लेकर कुछ वादे किए थे। चुनाव जीतने के बाद ठाकुर साहब दुबारा तारापुर नहीं गए। इस बीच वह पीपल सूख चुका है, जिसके बारे में स्थानीय लोग कहते हैं कि राजेंद्र बाबू ने झूठी कसम खाई थी इसलिए वह पीपल सूख गया। अब राजेंद्र राठौड़ फिर तारानगर की खाक छानते हुए घूम रहे हैं। तब वह पीपल का पेड़ उनको मुंह चिढ़ा रहा है कि आपकी झूठी कसम ने मेरी हरियाली छीन ली। जनता भी उस पीपल के पेड़ के बहाने राठौड़ की खिंचाई कर रही है।
(लेखक वरिष्ठ पत्रकार एवं स्तंभकार हैं तथा व्यंग्यात्मक लेखन में महारत रखते हैं।)

अन्य समाचार