मुख्यपृष्ठखबरेंतो अंगप्रदर्शन गलत नहीं!-विदिशा श्रीवास्तव

तो अंगप्रदर्शन गलत नहीं!-विदिशा श्रीवास्तव

हिंदी, तेलुगू, कन्नड़, तमिल और मलयालम सिनेमा के साथ कई टीवी शोज में अपनी दमदार एक्टिंग का लोहा मनवा चुकी अदाकारा विदिशा श्रीवास्तव अब एंड टीवी के कल्ट कॉमेडी शो ‘भाभीजी घर पर हैं’ की गोरी मेम मतलब अनीता भाभी के रूप में दर्शकों से रू-बरू होंगी। प्रस्तुत है, अभिनेत्री विदिशा श्रीवास्तव से सोमप्रकाश `शिवम’ की हुई बातचीत के प्रमुख अंश-

 लोकप्रिय टीवी शो `भाभी जी घर पर हैं’ की अनीता भाभी के रूप में एंट्री मिलने पर आप क्या कहना चाहेंगी?
भारत की सबसे चहेती, अनीता भाभी का किरदार निभाने का मौका मिलने पर मैं बहुत खुश और गर्व महसूस करती हूं। मुझे इस शो के दिलचस्प किरदारों और मजेदार कहानी को देखने में हमेशा से ही मजा आता रहा है। लेकिन मैंने कभी नहीं सोचा था कि एक दिन मुझे इस शो का प्रमुख किरदार निभाने का भी मौका मिलेगा। मेरे लिए यह वाकई बेहद यादगार पल है।
 आखिर कितना आसान होगा आपके लिए अनीता भाभी का किरदार निभाना?
चर्चित किरदारों को निभाना कतई आसान नहीं होता क्योंकि काफी हद तक दर्शक उस एक्टर और किरदार से पहले से ही जुड़े होते हैं। लेकिन मैं इस जिम्मेदारी को पूरे दिल से उठाने के लिए तैयार हूं। मुझे पूरा विश्वास है कि दर्शक भी उतने ही उत्साहित होंगे और मुझे ढेर सारा प्यार देंगे। इतना ही नहीं, वे खुले दिल से नई अनीता भाभी का स्वागत भी करेंगे।
 इस धारावाहिक की लोकप्रिय भाभियों के किरदार में आए दिन हो रहे बदलाव को आप कैसे देखती हैं?
मुझे लगता है बदलाव प्रकृति का नियम है। जब बदलाव सुनिश्चित हुआ तो मेरा भी इस शो में आना तय हो गया लेकिन अब मेरी हर संभव कोशिश रहेगी कि मेरे आने के बाद इस शो में आगे कोई बदलाव नहीं हो।
 आज टीवी शोज में कॉमेडी के नाम पर परोसी जा रही फूहड़ता को आप कैसे देखती हैं?
मुझे गंदगी तो कतई पसंद नहीं है फिर वो चाहे कहीं भी किसी भी क्षेत्र में क्यों न हो। मैं ऐसी कॉमेडी करना पसंद करूंगी, जिसे परिवार के साथ बैठकर देखने में किसी को आपत्ति नहीं हो।
 वैसे सिनेमा में अंग प्रदर्शन के प्रति आपका क्या नजरिया है?
निर्भर करता है कहानी की मांग क्या है। वहीं उसे निभाने वाले कलाकार का भी उसके प्रति क्या नजरिया है। वैसे अगर कहानी के अनुरूप हो और कलाकर को करने में कोई परहेज नहीं हो तो फिर कुछ भी गलत नहीं है।
 बॉलीवुड में लग रहे कास्टिंग काउच के आरोपों से आप कहां तक इत्तेफाक रखती हैं?
मेरा पर्सनल अनुभव कभी ऐसा रहा नहीं है तो ज्यादा उसके बारे में कुछ कह नहीं सकती लेकिन इंडस्ट्री में ये निर्बाध गति से सक्रिय है, जो दुर्भाग्यपूर्ण है।

अन्य समाचार