मुख्यपृष्ठअपराधनिर्दयी नर्स! ४.५ लाख रुपए में बेच रही थी नवजात बच्ची

निर्दयी नर्स! ४.५ लाख रुपए में बेच रही थी नवजात बच्ची

 
सामना संवाददाता / मुंबई
साढ़े चार लाख रुपए में १५ दिन के नवजात का सौदा करने वाली एक नर्स सहित दो महिलाओं को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुणे के कोंढवा स्थित अडॉप्शन केंद्र  में कार्यरत जयप्रकाश जाधव को सूचना मिली थी कि एक महिला नवजात बच्ची के लिए ग्राहक की तलाश में है। जिसके बाद जाधव ने स्थानीय महिला एवं बाल कल्याण प्राधिकरण और मुंबई पुलिस की सामाजिक शाखा की मदद से जाल बिछाया। जाधव ने पहले ग्राहक बनकर महिला नर्स से संपर्वâ किया। फोन पर उसने बच्ची की कीमत ४.५ लाख रुपए लगाई और कहा कि बच्ची के माता-पिता को ४ लाख रुपए दिए जाएंगे और बाकी के पैसे वह कमीशन के तौर पर रखेगी। इसके बाद रविवार को महिला ने जाधव को सायन कोलीवाड़ा में अहाना नर्सिंग होम पर बुलाया। यहां जाधव के साथ एक महिला पुलिस और एक कांस्टेबल पति-पत्नी बनकर गए, वहीं नवजात को लेकर आरोपी महिला पहुंची। इस दौरान नर्सिंग होम के आसपास सिविल कपड़ों में तैनात पुलिस वालों ने महिलाओं पर नजर रखी थी। जैसे ही रुपए देने का समय आया तो पुलिसकर्मियों ने दोनों महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया। दोनों के खिलाफ अंटॉप हिल पुलिस स्टेशन में मानव तस्करी से संबंधित आरोपों और किशोर न्याय (बच्चों की देखभाल और संरक्षण) अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। एक महिला पर मानव तस्करी से जुड़े मामले पहले से दर्ज हैं। मानखुर्द और वडाला ट्रक टर्मिनल पुलिस उसे गिरफ्तार भी कर चुकी है।
पीलिया होने पर माता-पिता ने छोड़ा
गिरफ्तार महिला नर्स ने दावा किया कि बच्चे के असली माता-पिता दिल्ली के रहने वाले हैं। जन्म के तुरंत बाद बच्ची को पीलिया हो गया और माता-पिता ने उसे छोड़ दिया। डीसीपी बालसिंह राजपूत ने कहा कि मुंबई महिला एवं बाल कल्याण कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार बच्चों को अवैध रूप से गोद लिया जा रहा था। सीडब्ल्यूसी के साथ संयुक्त अभियान में मुंबई पुलिस ने दो महिलाओं को गिरफ्तार किया है और १५ दिन की बच्ची को बचाया है। फिलहाल बच्ची को महालक्ष्मी स्थित `बाल आशा ट्रस्ट’ को सौंप दिया गया है।

अन्य समाचार