" /> पवई आईआईटी देश में नंबर वन : वैश्विक रैंकिंग ‘टॉप २००’ में हुआ शामिल

पवई आईआईटी देश में नंबर वन : वैश्विक रैंकिंग ‘टॉप २००’ में हुआ शामिल

पवई स्थित आईआईटी मुंबई एक बार फिर देशभर में ‘नंबर वन’ साबित हुई है। ‘क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग-२०२१’ में आईआईटी मुंबई ने बंगलुरू के इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइंसेस (आईआईएससी) एवं आईआईटी दिल्ली को भी पछाड़ दिया है। इसके साथ ही आईआईटी मुंबई ने वैश्विक रैंकिंग में भी ‘टॉप २००’ में स्थान हासिल कर लिया है।
संस्था की प्रतिष्ठा, शिक्षा का स्तर, शिक्षकों की गुणवत्ता, विदेशी शिक्षकों की संख्या, विदेशी छात्रों की संख्या आदि मानकों पर यह रैंकिंग तय की गई है। वैश्विक रैंकिंग में आईआईटी मुंबई १७२ स्थान पर तो बंगलुरू की आईआईएससी १८५ और आईआईटी दिल्ली १९३ स्थान पर है जबकि मद्रास, खड़गपुर, कानपुर, रुड़की एवं गुवाहाटी आईआईटी ने ‘टॉप ५००’ में स्थान हासिल किया है। इसी तरह देशभर के २१ उच्च शिक्षा संस्थान इस रैंकिंग में ‘टॉप १०००’ में शामिल हुए हैं।
विश्व में मैसाच्युसेट्स विद्यापीठ अव्वल
इस रैंकिंग के अंतर्गत विश्व में पहले तीन स्थानों पर अमेरिका की विद्यापीठ शामिल हैं। मैसाच्युसेट्स विद्यापीठ पहले स्थान पर तो स्टैनफर्ड दूसरे और हार्वर्ड विद्यापीठ तीसरे स्थान पर है। हिंदुस्थान के उच्च शिक्षा संस्थानों ने विश्वभर की शिक्षा संस्थाओं की तुलना में संशोधन पर अधिक जोर दिया है। इसी तरह अंतराष्ट्रीय स्तर की शिक्षा एवं विद्यार्थियों को अपनी तरफ अधिक आकर्षित करने के लिए हिंदुस्थानी संस्थानों को और भी उल्लेखनीय कार्य करने की जरूरत है, ऐसी राय ‘क्यूएस’ के बेन साटर ने व्यक्त की है।