मुख्यपृष्ठसमाचारबेस्ट कर्मचारियों की एंटीबॉडीज बेस्ट’! कुछ नहीं बिगाड़ पाएगी कोरोना की चौथी...

बेस्ट कर्मचारियों की एंटीबॉडीज बेस्ट’! कुछ नहीं बिगाड़ पाएगी कोरोना की चौथी लहर

सामना संवाददाता / मुंबई। मुंबई को यातायात परिवहन सेवा उपलब्ध करानेवाली लाल परी बेस्ट बस सेवा हर मामले में बेस्ट साबित हो रही है। कोरोना काल में भी बेस्ट ने जनता को पूरा सहयोग किया। लोगों को ढोने में सतत तैयार रही। इसके कुछ कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव भी हुए तो कुछ की मौत भी हो गई, लेकिन ज्यादातर कर्मचारी कोरोना को मात देने में सफल रहे। अब जब बेस्ट कर्मचारियों ने कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक ले ली हैं तो वे पूरी तरह सुरक्षित हो गए हैं। कोरोना की चौथी लहर को भी टक्कर देने का दमखम उनमें भर गया है। यह बेस्ट के मेडिकल रिपोर्ट में स्पष्ट हुआ है।
बेस्ट के मेडिकल इंचार्ज ने सभी कर्मचारियों का एंटीबॉडीज टेस्ट कराया तो खुश करनेवाली रिपोर्ट आई। सभी कर्मचारियों अर्थात १०० प्रतिशत कर्मचारियों में एंटीबॉडीज जनरेट हुआ है। इसके चलते अब उन्हें कोरोना का संक्रमण परेशान नहीं कर सकता है।
एक सप्ताह चला सर्वेक्षण
बेस्ट के मेडिकल इंचार्ज अनिल कुमार सिंघल ने बताया कि बेस्ट विभाग के मेडिकल डिपार्टमेंट ने पिछले एक सप्ताह से सभी डिपो में कोरोना के खिलाफ २८ से ३० मार्च २०२२ के बीच सिरो सर्वेक्षण किया गया। डिपो में सभी अधिकारी, क्लर्क, ड्राइवर व कंडक्टर सभी की एंटीबॉडीज जांच की गई। उनके खून की रिपोर्ट राहत देने वाली रही। सभी कर्मचारियों के शरीर में एंटीबॉडीज जनरेट हुआ है। इससे शरीर में कोरोना संक्रमण से लड़ने की क्षमता में वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि दिनभर सेवा के दौरान हजारों लोगों के संपर्क में कंडक्टर और ड्राइवर आते हैं, जिसके चलते इन्हें कोरोना जैसे कई संक्रमण से संक्रमित होने के खतरा रहता है। लेकिन एंटीबॉडीज जनरेट होने से उनके शरीर मे संक्रमण से लड़ने की पर्याप्त क्षमता होती है। ऐसे में उन्हें कोरोना होने पर भी कोई बड़ा खतरा नहीं होता है। इसके अलावा डायबिटीज-टीवी की नियमित जांच होती है।

अन्य समाचार