मुख्यपृष्ठखबरेंमर्चेंट नेवी में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी,दर्जनों युवकों को बनाया...

मर्चेंट नेवी में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी,दर्जनों युवकों को बनाया शिकार

नवघर पुलिस ने आरोपी को पकड़कर वाशी पुलिस को सौंपा 

 मुंबई। गुजरात के हजीरा पोर्ट पर नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले आरोपी को मुंबई के नवघर पुलिस ने पकड़कर वाशी पुलिस के हवाले किया है। विशेष की ठगी के शिकार युवक ने एक्टिवा नंबर के मदद से एक युवक को मुलुंड से बीच सड़क पर दौड़ाकर पकड़ा ।इसके बाद पुलिस के मदद से इन्हें गिरफ्तार किया गया।

वाशी पुलिस ने  27 वर्षीय आरोपी को गिरफ्तार किया ।इसके खिलाफ वाशी पुलिस ने गबन और धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज की है।  जब की मामले में अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है।गिरफ्तार आरोपी और उसके सहयोगियों  तीन या चार महीने पहले वाशी सेक्टर -30 में बुलबोस बो शिप मैनेजमेंट नाम से फैंटासिया बिजनेस पार्क में एक कार्यालय शुरू किया था।  सोशल मीडिया पर इस बात का विज्ञापन भी किया था कि उन्हें एक हफ्ते में नौकरी मिल जाएगी।  इसलिए जिन युवकों ने मर्चेंट नेवी का कोर्स किया था, वे वाशी स्थित उनके कार्यालय में पहुंचे।गोवंडी निवासी आकाश कुमार गुप्ता (23) और उसके दो दोस्तों ने भी वाशी स्थित कार्यालय से संपर्क किया।  उस समय, आरोपी और उनके साथी ने आकाश कुमार और उनके दोस्तों को गुजरात के हजीरा पोर्ट में 55,000 रुपये प्रति माह के हिसाब से नौकरी देने का वादा किया था।  लेकिन इसके लिए दो लाख की मांग की।  आकाश कुमार और उनके दोस्तों ने 2 लाख रुपये देने की इच्छा दिखाने के बाद, आरोपी ने एक नौकरी एग्रीमेट पर हस्ताक्षर किए और उन्हें अवध एक्सप्रेस से सूरत भेज दिया। सूरत में प्रदीप गुप्ता नाम के व्यक्ति  ने तीनों को एक होटल में दो दिन के लिए रोका।  फिर उसने उन्हें  दस्तावेज भेजकर पैसे की मांग की।  जिसपरविश्वास कर आकाश कुमार और उसके दो दोस्तों ने आरोपी को पैसे भेजे।  आकाश कुमार ने मर्चेंट नेवी में काम करने वाले एक परिचित से संपर्क किया और इमिग्रेशन के बारे में पूछताछ की तो वह फर्जी निकला।  यब उन्हें एहसास हुआ कि उनके साथ धोखा दिया जा रहा है, आकाश कुमार और उनके दोस्तों ने आरोपी से पैसे वापस करने की मांग की। जिसके बाद वे वाशी में उनका कार्यालय और फोन बंद कर फरार हो गए ।  उन्हें  पता चला कि इस गिरोह ने 7 से 8 अन्य युवकों को भी ठगा है।जिससकेबाद बाद वाशी पुलिस स्टेशसन में शिकायत दर्ज कराई थी ।

स्कूटी नंबर से पकडा गया ठग 

आकाश कुमार और उसके दोस्तों को ठगने वाले गिरोह के आरोपी और प्रदीप गुप्ता को एक्टिवा नंबरों पर ट्रेस किया गया।  24 फरवरी को आकाश कुमार मुलुंड जा रहा था, जब उन्होंने आरोपी और प्रदीप गुप्ता को स्कूटर पर देखा।  तो उसने तुरंत उन दोनों को पकड़ने की कोशिश की।  हालांकि, उस समय गुप्ता एक स्कूटी में भाग गया और आरोपी को पकड़कर नवघर पुलिस के हवाले कर दिया गया।  उसके बाद वाशी पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया और धोखाधड़ी और गबन के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।  इसके साथ के अन्य साथी की तलाश शुरू हो गई है।

अन्य समाचार