मुख्यपृष्ठखेलयस्तिका है तो रन हैं

यस्तिका है तो रन हैं

हिंदुस्थानी टीम की वुमन विंग में यदि कोई शैफाली वर्मा, स्मृति मंधाना, हरमनप्रीत जैसी बल्लेबाज की बात करें तो उसे भूलना नहीं चाहिए कि अब यदि ये तीनों बल्लेबाज रन नहीं भी बनाती हैं तो एक युवा बल्लेबाज हैं, जिसका बल्ला बोलता ही बोलता है। आप देखिए कि जब विश्वकप शुरू हुआ तो इस खिलाड़ी को शैफाली की धूम के आगे बेंच पर ही बैठना पड़ा था, मगर शैफाली फेल रहीं और न्यूजीलैंड के खिलाफ यस्तिका भाटिया को मौका मिला। इस मौके को यस्तिका ने न केवल भुनाया बल्कि अर्धशतक भी जड़ा। यही नहीं इसके बाद ऑस्ट्रेलिया और बांग्लादेश के खिलाफ भी उनका प्रदर्शन बेहतरीन रहा। बांग्लादेश के खिलाफ जब टीम को जरूरत थी तो यस्तिका ने बल्लेबाजी कर मजबूत रीढ़ दी। यहां भी यस्तिका ने अर्धशतक जड़ा। यस्तिका हिंदुस्थान टीम की सबसे भरोसेमंद बल्लेबाज के रूप में पहचानी जाने लगी हैं, जबकि अभी उनके खाते में १२ वन डे मैच ही है किंतु रनों का जो औसत है, उसे देखकर कोई भी यह कह सकता है कि यस्तिका टीम में हैं तो रनों का कोई टेंशन नहीं।

अन्य समाचार