मुख्यपृष्ठखेलये क्या हुआ पहलवानों के साथ?

ये क्या हुआ पहलवानों के साथ?

ये वाकई अफसोसजनक है। कोई खेल किसी बड़े आयोजन से हटा दिया जाए तो उसके खिलाड़ियों पर जैसे गाज गिर जाती है। अब देखिए न राष्ट्रमंडल खेलों में कुश्ती के बाहर किए जाने से हरियाणा के पहलवानों को बहुत बड़ा झटका लगा है। इस पैâसले से पहलवान और कोच बहुत ज्यादा नाराज दिखाई दे रहे हैं। पहलवानों का कहना है कि कुश्ती हरियाणा की शान है और वह सभी पहलवानों के रग-रग में बसी हुई है। सभी पहलवानों में कुश्ती का जुनून है और इसको बाहर करने से पहलवानों पर बहुत ज्यादा असर पड़ेगा। वहीं सभी ने केंद्र सरकार से आवाज उठाने की अपील भी की है। कुश्ती को राष्ट्रमंडल खेलों से बाहर किए जाने पर खिलाड़ियों का कहना है कि राष्ट्रमंडल खेलों में कुश्ती में ही पहलवान बहुत अच्छा प्रदर्शन करते हैं। राष्ट्रमंडल खेलों से लेकर एशियन गेम्स, ओलिंपिक तक में हरियाणा ने अपना लोहा मनवा चुके हैं। कुश्ती को इन खेलों से बाहर किए जाने से हरियाणा के पहलवानों का बहुत बड़ा नुकसान होगा। सरकार को खिलाड़ियों के दर्द को समझते हुए इस पैâसले को लेकर अपना पक्ष रखने का मन बनाना चाहिए।

अन्य समाचार