मुख्यपृष्ठनए समाचाररास्ते में रोककर युवती पर जबरन धर्मपरिवर्तन कर शादी का दबाव

रास्ते में रोककर युवती पर जबरन धर्मपरिवर्तन कर शादी का दबाव

 

आरोपी ने लड़की पर बरसाए फूल

सीटी कोतवाली पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

खंडवा । मध्य प्रदेश के खंडवा स्थित एक नर्सिंग की छात्रा के साथ छेड़छाड़ और धर्म परिवर्तन कर शादी का दबाव बनाने का मामला सामने आया है। छात्रा ने आरोप लगाया है कि आरोपी ने उसका पीछा किया और फिर उसे रोककर उसके सिर पर फूल डाले और कहा कि अपना धर्म परिवर्तन कर मुझसे शादी कर लो। जब उसने शोर मचाया तो वह वहां से भाग गया। इस मामले में सोमवार को कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक जनवरी में भी आरोपी ने इसी तरह की एक वारदात को अंजाम दिया था। जिसकी रिपोर्ट हरसूद थाने में दर्ज की गई थी। आरोपी जमानत पर जेल से बाहर आया था। उसके बाद उसने फिर से इसी तरह की वारदात को अंजाम दिया है।

खंडवा में एसएम कॉलेज के पास नर्सिंग की एक छात्रा को रास्ते में रोककर एक सिरफिरे ने उसके सिर पर पहले फूल बरसाए और फिर उससे शादी करने की बात कहने लगा। पीड़ित छात्रा ने आरोप लगाया कि आरोपी युवक ने उस पर धर्म परिवर्तन कर शादी करने का दबाव बनाया था। छात्रा ने बताया कि आरोपी उसी के गांव का रहनेवाला है जो लगातार उसका पीछा करता है और उससे शादी करने की बात कहता है। छात्रा ने आरोप लगाया कि आरोपी ने किसी से उसका मोबाइल नंबर ले लिया है और वह लगातार व्हाॅट्सऐप पर उसे धमकी देता रहा कि अगर उसने उससे शादी नहीं की तो वह उसे जान से मार देगा। छात्रा ने कहा कि आरोपी ने उस पर एसिड फेंकने की भी धमकी दी थी। जिसके बाद छात्रा ने कोतवाली थाने में आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। पीड़ित छात्रा की शिकायत पर खंडवा के सिटी कोतवाली में अपराध दर्ज कर लिया गया है। सिटी एसपी पूनमचंद गुर्जर ने बताया कि कल (सोमवार) एक लड़की ने कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी कि उसे आशापुर का रहनेवाला एक युवक जबरन छेड़ता है। वो उसका पीछा करता है। सोमवार को उसने एसएन कॉलेज के पास उसे रोककर धर्म परिवर्तन कर शादी का दबाव बनाया इस पर हमने छेड़छाड़ और धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम के तहत अपराध दर्ज किया था। आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। सिटी एसपी ने बताया कि आरोपी ने जनवरी माह में एक अन्य लड़की के साथ भी इसी तरह का एक अपराध हरसूद थाने में किया था। जहां इसकी एफआईआर दर्ज की गई थी। उसे उस समय भी जेल भेजा गया था। आरोपी जमानत पर रिहा होकर बाहर आया था और उसने एक बार फिर इसी तरह का अपराध किया है।

अन्य समाचार