" /> वर्कआउट से बनी टाइगर की मस्क्युलर बॉडी

वर्कआउट से बनी टाइगर की मस्क्युलर बॉडी

टाइगर श्रॉफ का नाम बॉलीवुड इंडस्ट्री हो या फिटनेस इंडस्ट्री, हर जगह काफी फेमस है। टाइगर ने बहुत ​ही कम समय में बॉलीवुड में अपनी अलग पहचान तो बनाई है। इसी के साथ टाइगर फिटनेस के मामले में सभी यंगस्टर्स के रोल मॉडल भी बन गए हैं। इसलिए टाइगर के बारे में फैंस काफी कुछ जानने की चाहत रखते हैं तो टाइगर भी उन्हें निराश नहीं करते हैं। वे समय-समय पर सोशल मीडिया में फिटनेस से संबंधित फोटो और वीडियो डालकर लोगों को मोटिवेट करते रहते हैं।
बात टाइगर के फिटनेस की करें तो वे वर्कआउट मुश्किल से ही मिस करते हैं। वे काफी मेहनती हैं। टाइगर की बॉडी एक-दो साल में नहीं बनी है, बल्कि वे लगातार १५ सालों से वर्कआउट करते आ रहे हैं। जिसमें उन्होंने बिल्कुल भी गैप नहीं किया। टाइगर सात दिन सात तरह के अलग-अलग वर्कआउट प्लान करते हैं। सोमवार को वह ८५ किलो वजन के साथ पुल-अप्स और पुल डाउन का अभ्यास करते हैं। इसके अलावा बैक के वर्कआउट के लिए वह वन-आर्म डंबल रोल्स (१०० व्ु) की प्रैक्टिस करते हैं। मंगलवार को वह चेस्ट का वर्कआउट करते हैं। इसमें फ्लैट बेंच, इनक्लाइन बेंच, डंबल प्रेस जैसे एक्सरसाइजेज शामिल हैं। वहीं, बुधवार को वह लेग्स की एक्सरसाइज करते हैं। इसके लिए वह स्क्वाट्स, हैमस्ट्रिंग्स, स्टेप-अप्स और बेयरबॉल्स करते हैं। ऑर्म्स के लिए लिए टाइगर बृहस्पतिवार को वर्कआउट करते हैं। इस दिन वह ओलंपिक बेयरबेल कर्ल्स, डंबल कर्ल्स, रिवर्स कर्ल्स, क्लोज कर्ल्स, क्लोज ग्रिप बेयरबेल्स, प्रेस डाउंस और स्कल क्रैशर्स का अभ्यास करते हैं। प्रâाइडे को टाइगर शोल्डर्स का वर्कआउट करते हैं। इसमें नी एंड शोल्डर प्रेस, मिलिट्री प्रेस, डंबल्स का इस्तेमाल करते हुए लेटरल रेजिंग आदि एक्सरसाइज शामिल होते हैं। शनिवार को वह डेड लिफ्ट्स, स्क्वाट्स, पुशअप्स जैसे वर्कआउट करते हैं। एब्स के वर्कआउट के लिए रविवार का दिन निश्चित होता है। इसके लिए टाइगर क्रंचेज, हैंगिंग रिवर्स क्रंचेज, वजनदार रिवर्स क्रंचेज जैसे वर्कआउट करते हैं।
फिटनेस विशेषज्ञ कहते हैं कि टायगर जैसी फिटनेस के लिए सबसे पहले अपनी डाइट पर कंट्रोल करना होगा। जंक फूड्स, ऑयली फूड्स, सॉफ्ट ड्रिंक्स, मिठाई आदि को छोड़ना होगा। फिर इसके बाद किसी एक्सपर्ट की सलाह के मुताबिक हाई प्रोटीन और लो-कार्ब वाला डाइट प्लान तैयार करें। जिसमें सारे प्रोटीन, कार्ब, फैट, विटामिन, मिनरल्स आदि शामिल हों। यानि कि आपकी प्लेट में किसी भी डिश में ७० प्रतिशत प्रोटीन और ३० प्रतिशत कार्ब होना चाहिए। इसके अलावा आप इस प्लान को हफ्ते में ६ दिन फॉलो करें। फिर यदि आप सक्सेसफुली इस प्लान को एक ६ दिन तक फॉलो करते हैं तो आप अपने आपको रिवॉर्ड देते हुए लास्ट दिन चीट मील ले सकते हैं।