मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनासंपादक के नाम पत्र : ब्यूटीफिकेशन की ऐसी की तैसी

संपादक के नाम पत्र : ब्यूटीफिकेशन की ऐसी की तैसी

दादर (पूर्व) खोदादाद सर्कल के ऊपर से गुजर रहे फ्लाइओवर के नीचे प्रशासन ने लाखों रुपए खर्च करके ब्यूटीफिकेशन किया है। सुंदर पेंटिंग बनाई गई है, लोगों के बैठने के लिए बेंच है, घूमने के लिए गार्डन बनाया गया है। लोग अपनी थकान मिटाकर यहां बैठते हैं। लेकिन इस सुख और आनंद लेने की चाह में उन्हें यहां गंदे पानी से भीगकर आना पड़ता है और वह गंदा पानी है ऊपर से गुजर रहे फ्लाइओवर का। गार्डन के गेट के ऊपर फ्लाइओवर का ड्रेनेज पाइप टूटा हुआ है, जिससे यहा गंदा पानी रिसते रहता है। यह इतना तेज टपकता है कि लोग भीग जाएंगे। बारिश तेज होने पर यह रिसाव और भी बढ़ जाता है और बारिश बंद होने पर ठहरा हुआ पानी टिप-टिप करता हुआ गिरता रहता है। मेरी प्रशासन से विनती है कि वो इसे दुरुस्त करवाए। दादर (पूर्व) के फ्लाइओवर की यह घटना नई नहीं है, इससे पहले भी ऊपर होनेवाले जलजमाव की शिकायत मिल चुकी है, जिसे ‘दोपहर का सामना’ ने प्रकाशित भी किया था। इस फ्लाइओवर के ऊपर सड़क के किनारे इतनी मिट्टी और धूल इकट्ठी हो गई थी, जो बारिश की वजह से कीचड़ में बदल गई जिससे बाइक सवार फिसलकर गिर रहे थे। यह शिकायत प्रकाशित होने के बाद प्रशासन ने सफाई करवा दी थी। -जगदीश शेट्टी, वडाला

अन्य समाचार