मुख्यपृष्ठखेलसात्विक-चिराग की जोड़ी ने रचा इतिहास

सात्विक-चिराग की जोड़ी ने रचा इतिहास

विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में हिंदुस्थान के सात्विक साईराज रेड्डी और चिराग शेट्टी ने कांस्य पदक जीतकर इतिहास रच दिया है। यह पहला मौका है, जब इस प्रतियोगिता के पुरुष युगल में हिंदुस्थान को कोई पदक मिला है। जापान की राजधानी टोक्यो में भारतीय जोड़ी को सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा। इसके साथ ही हिंदुस्थान का कांस्य पदक पक्का हो गया और रजत या स्वर्ण पदक की उम्मीद खत्म हो गई। यह दूसरी भारतीय जोड़ी है, जिसने विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में पदक जीता है। इससे पहले अश्विनी पोनप्पा और ज्वाला गुट्टा ने २०११ में इस प्रतियोगिता में पदक जीता था। सेमीफाइनल में मलेशिया के आरोन चिया और सोह वुई यिक की जोड़ी ने सात्विक चिराग को २०-२२, २१-१८, २१-१६ से हरा दिया और फाइनल में जगह बनाई। पिछले मुकाबले की तरह इस बार भी भारतीय जोड़ी पहले सेट में कमाल का प्रदर्शन किया और करीबी गेम में २२-२० के अंतर से जीत हासिल की। दूसरे गेम में भारतीय जोड़ी १८-२१ के अंतर से हार गई। हालांकि, सभी को उम्मीद थी कि क्वार्टर फाइनल मैच की तरह इस मैच में भी सात्विक-चिराग वापसी करेंगे और तीसरा गेम जीतेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

अन्य समाचार