मुख्यपृष्ठखबरेंचौथी लहर के लिए १ लाख बेड रहेंगे तैयार!

चौथी लहर के लिए १ लाख बेड रहेंगे तैयार!

• एक्शन मोड पर मनपा
• WHO ने दी है चेतावनी

सामना संवाददाता / मुंबई । कानपुर आईआईटी के बाद अब डब्ल्यूएचओ द्वारा चौथी लहर आने की चेतावनी दिए जाने के बाद मुंबई मनपा का स्वास्थ्य विभाग एक्शन मोड पर है। अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकाणी ने कहा कि यदि चौथी लहर आती है, तो लक्षणवाले रोगियों के लिए ३०,००० बेड, बिना लक्षणवाले रोगियों के लिए ४०,००० और कोरोना मरीजों के संपर्क में आनेवाले लोगों के लिए ३०,००० बेड उपलब्ध कराए जाएंगे। जरूरत पड़ने पर एक लाख से अधिक बेड तैयार किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में कोविड मरीजों के लिए ३० हजार बेड उपलब्ध हैं, जबकि केवल ६० से ७० मरीजों का बेडों पर उपचार शुरू है।
मनपा के तैयार रहेंगे सभी तंत्र
मार्च २०२० में मुंबई में कोरोना के आने के बाद मनपा को दो घातक लहरों का सामना करना पड़ा है। तीसरी लहर का असर कम होने के बाद भी मनपा को इसे कंट्रोल में लाने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन की चेतावनी के चलते मनपा अपने पूरे तंत्र को तैयार रखेगी। काकाणी ने कहा कि मरीजों की घटती संख्या के चलते मनपा अस्पतालों में गैर-कोविड उपचार को प्राथमिकता दी गई है। लेकिन चौथी लहर की चेतावनी के मद्देनजर डॉक्टर, नर्स, स्वास्थ्य कर्मी और दवाएं सभी उपलब्ध कराए जाएंगे।
जल्दबाजी में नहीं दी गई प्रतिबंधों में ढील
काकाणी ने कहा कि अन्य देशों की तरह मुंबई में लगाए गए प्रतिबंधों में ढील देने में किसी तरह की जल्दबाजी नहीं की गई है। प्रतिबंधों को कई चरणों में हटाया गया है। इसके चलते नागरिकों में कोरोना रोग प्रतिरोधी क्षमता मजबूत हो गई है।

अन्य समाचार