मुख्यपृष्ठसमाज-संस्कृतिहिजाब नहीं पहनने पर १० साल की होगी जेल, महिलाओं के लिए...

हिजाब नहीं पहनने पर १० साल की होगी जेल, महिलाओं के लिए ईरान बना `नरक’!

एजेंसी / तेहरान
ईरान में महिलाओं को लेकर पाबंदियां कम होने की बजाय बढ़ती जा रही हैं। यहां सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं के लिए सिर से लेकर पांव तक ढक जाए ऐसा कपड़ा पहनना अनिवार्य है। हाल ही में खबर आई थी कि ईरानी सरकार हिजाब नहीं पहनने वाली महिलाओं से मुर्दाघरों के शवों की सफाई करवा रही है। अब खबर आ रही है कि ईरानी सरकार हिजाब पहनने को लेकर और सख्त कदम उठाने वाली है। सरकार पहले से और अधिक कड़े नियम लाने की तैयारी कर रही है। इस नियम के तहत हिजाब नहीं पहनने वाली महिलाओं को दस साल जेल में रखा जाएगा। साथ ही हिजाब कानून का पालन नहीं करने वाली महिलाओं को ट्रैक करने के लिए सरकार आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआई) की मदद लेगी। कहना गलत नहीं होगा कि ईरान महिलाओं के लिए नरक बन गया है।
सूत्रों के मुताबिक, नए विधेयक में हिजाब न पहनने वालों की सजा को अधिकतम २ महीने से बढ़ाकर १० साल कर दिया जाएगा। इसके अलावा हिजाब न पहनने वाली महिलाओं को ट्रैक करने के लिए एआई की मदद ली जाएगी। विशेषज्ञों के अनुसार, यह विधेयक ईरानियों के लिए एक चेतावनी है कि पिछले साल देशभर में भारी विरोध प्रदर्शन के बावजूद ईरान हिजाब रूल पर अपने रुख से पीछे नहीं हटेगा। नए विधेयक में हिजाब नियमों का उल्लंघन करने वाली मशहूर हस्तियों के लिए भी नए तरह के दंड को शामिल किया गया है।
पुलिस कस्टडी में हुई थी महसा की मौत
बता दें कि महसा अमीनी की मौत को एक साल पूरे होने से पहले ईरान सरकार यह कदम उठाने जा रही है। गौरतलब है कि पिछले साल २२ साल की ईरानी लड़की महसा को पुलिस ने हिजाब को ठीक से न पहनने को लेकर हिरासत में लिया था, उसके कुछ घंटे बाद पुलिस कस्टडी में ही उसकी मौत हो गई। महसा की मौत के बाद लोगों का गुस्सा उबल पड़ा और देश के अलग-अलग हिस्सों में भारी विरोध प्रदर्शन हुआ।

अन्य समाचार