मुख्यपृष्ठनए समाचारबुजुर्ग की बीमारी से डॉक्टर हैरान... घुटने से निकला १२ सेमी का...

बुजुर्ग की बीमारी से डॉक्टर हैरान… घुटने से निकला १२ सेमी का स्टोन

सामना संवाददाता / मुंबई । किडनी या गाल ब्लैडर में पथरी (स्टोन) होना आम बात है। इसका आसानी से इलाज भी हो जाता है, लेकिन बुजुर्ग की बीमारी ने डॉक्टरों को हैरान कर दिया है। मुंबई में एक ७० साल के मरीज के घुटने से १२ सेंटीमीटर का स्टोन निकाला है। डॉक्टरों ने पिछले हफ्ते ये स्टोन मरीज के दाएं घुटने से निकाला था।
मेडिकल साइंस की भाषा में इसे मल्टीपल जॉइंट सिनोवियल कोंड्रोमैटोसिस कहा जाता है। डॉक्टरों के मुताबिक ये एक दुर्लभ बीमारी है। ये एक लाख लोगों में से सिर्फ एक में होता है, जिस मरीज के घुटने से इस स्टोन को बाहर निकाला गया, वो एक दिहाड़ी मजदूर है। बताया जा रहा है कि उक्त बुजुर्ग मूलरूप से अमरावती के रहने वाले हैं। खास बात ये है कि डॉक्टरों ने ये सर्जरी मुफ्त में की। उनके घुटने को रिप्लेस किया गया और १० साल के बाद बुजुर्ग ने पहली बार मोटरसाइकिल चलाई। उनके बेटे ने मीडिया को बताया कि पिछले कुछ साल से उनके पिता ठीक से चल नहीं पाते थे। साथ ही वो सीढ़ियों पर भी नहीं चढ़ पाते थे। गांव के आरोग्य सेवक बुजुर्ग को माहिम के एस.एल. रहेजा फोर्टिस अस्पताल ले गए। यहां एमआरआई में पता चला कि उनके घुटने में एक ककड़ी के आकार का स्टोन है। ऑपरेशन करने वाले हड्डी रोग सर्जन डॉ. सिद्धार्थ एम. शाह ने पत्रकारों को बताया कि एक चिकित्सा साहित्य खोज में बड़े स्टोन का केवल एक उल्लेख सामने आया था। उन्होंने कहा ‘सबसे बड़ा पत्थर २० सेंटीमीटर का था, जबकि दूसरा ११ सेमी था।
हमारे मरीज का पत्थर १र्२े र्६े मापा गया। ५.५ सेमी और इसे दो भागों में हटाने की जरूरत है।’ मेडिकल टीम एक मेडिकल जर्नल के लिए केस स्टडी जमा करने की योजना बना रही है क्योंकि ‘स्टोन कम से कम हिंदुस्थान में सबसे बड़ा होने की संभावना है।’

अन्य समाचार